कानपुर के नयागंज व सीएसए से चलेगी दो अंडर ग्राउंड मेट्रो ट्रेनें

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 09:28 AM IST
  • अब कानपुर में दो नए स्थानों से शहर के नीचे से गतिमान होंगी मेट्रो ट्रेनें. शीघ्र ही इन स्थानों पर निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा. निर्माण कार्य कराए जाने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और ब्लू प्रिंट भी तैयार किया जा चुका है.
प्रतीकात्मक तस्वीर

कानपुर. अब कानपुर में दो नए स्थानों से शहर के नीचे से गतिमान होंगी मेट्रो ट्रेनें. यह लोगों को सुगमता से उनके गंतव्य तक पहुंचाए जाने के लिए सरकार द्वारा शुरू कराए जाने के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है. शीघ्र ही इन स्थानों पर निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा. निर्माण कार्य कराए जाने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और ब्लू प्रिंट भी तैयार किया जा चुका है. इस कार्य में वह कंपनियां शामिल होंगी जिनके अधिकारियों के पास टनल या अंडरग्राउंड स्टेशन बनाने का काफी अनुभव होगा.

जुलाई माह में मेट्रो ने बेनाझाबर से नयागंज तक के लिए टनल और अंडरग्राउंड स्टेशन का टेंडर उठा दिया है. जिसमें कानपुर शहर की कई मार्गों को चुना गया है. जहां से यह ट्रेन है निरंतर चलती रहेगी. इसमें मुख्य रूप से चुन्नीगंज, नवीन मार्केट, बड़ा चौराहा व नयागंज स्टेशन शामिल होंगे. यह सभी स्टेशन अंडर ग्राउंड होंगे लेकिन इसके लिए भी अलग तरह से टेंडर उठाए जाने की तैयारी की जा रही है.

अंडर ग्राउंड स्टेशन व टनल के अलावा वेंटिलेशन पर भी खास ध्यान दिया जा रहा है. इस संबंध में जानकारी देते हुए कानपुर के अधिकारियों ने बताया कि पहले नया गंज से ट्रांसपोर्ट नगर और उसके बाद सीएसए, डबल पुलिया का टेंडर दिया जाएगा. पहले टेंडर में सेंट्रल स्टेशन, झकरकटी, ट्रांसपोर्ट नगर शामिल होंगे. इसके उपरांत नौबस्ता तक का रास्ता एलीवेट किया जाएगा.

मेट्रो लाइन आईआईटी से नौबस्ता तक जाएगी. इन सभी के लिए टेंडर प्रक्रिया तेज कर दी गई है. शीघ्र इन टेंडरों को उठाए जाने का निर्माण कर प्रारंभ कर दिया जाएगा. इसमें इन रूटों पर रावतपुर स्टेशन एकमात्र ऐसा होगा जो दोनों लाइनों को शामिल करेगा जबकि दूसरा रूट सीएसए, रावतपुर, काकादेव और डबल पुलिया स्टेशन तक करीब 4.410 किलोमीटर का अंडरग्राउंड होगा. अंडर ग्राउंड स्टेशन के होने से शहर में कहीं भी जाम की समस्या ट्रेनों के कारण उत्पन्न नहीं होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें