कानपुर: छठ मइया के गीतों और सूर्यदेव के जयघोष से हुआ छठ व्रत का पारण

Smart News Team, Last updated: 22/11/2020 09:46 AM IST
  • शनिवार को घाट और घर पर सूर्यदेव के इंतजार में छठी मइया के गीतों की गूंजते रहे. लोगों की नजरें पूर्व के आसमान पर टिकी हुई नजर आईं. महापर्व छठ पूजा के अंतिम दिन लोगों ने सूर्यदेव के नारों से जयघोष किया साथ ही महिलाएं कमर तक पानी में उतर पड़ीं. सूर्य की उपासना के बाद महिलाओं ने व्रत का पारण किया और सौभाग्यवती होने की कामना की. 
  • भारत में अतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के आसपास शहरों में कोरोना संक्रमण अधिक और तेजी से फैला. लखनऊ एयरपोर्ट के चलते कानपुर और दिल्ली एयरपोर्ट के चलते यूपी के कई शहर हाटस्पाट बने. शहरी आबादी में संक्रमण ज्यादा फैला. यह निष्कर्ष ब्रिटेन में छपे एक जनरल के सर्वे का है. सर्वे की टीम ने कानपुर के डॉक्टर काशी पिमदाद के साथ तीन भारतीय और दो विदेशी शिक्षक शामिल थे. 
  • कोरोना की दूसरी लहर आ गई है. लापरवाही बरतना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है. यह कहना है आईजी रेंज मोहित अग्रवाल का. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उन्होंने खुद सड़क पर उतरकर चालान कटवाए और चेकिंग की. उन्होंने बिना मास्क के चालकों का 500 रुपए का चालान कटवाया. इसके साथ ही 24 घंटे के कोरोना के अपडेट में एक कोरोना मरीज की मौत हो गई और 130 नए कोरोना संक्रमति मामले सामने आए. 
  • कोरोना ने बच्चों के हाथों के खिलोनों को छीनकर नोटबुक थमा दी. कमाई पर असर पड़ा तो कटौती की कैंची बच्चों के खिलौनों पर भी पड़ी. यही वजह है कि सॉफ्ट टवॉय और अन्य खिलौने का बाजार एक तिहाई ही रह गया. जबकि हाउजी क्रासवर्ड और व्यापार जैसे सस्ते और लंबे समय तक चलने वाले खिलौनों का बाजार चार महीनों में कुछ बेहतर हुआ है. इसके उलट नोटबुक का बाजार चार गुणा बढ़ गया है. आपको बता दें कि कानपुर में सालाना सौ करोड़ का व्यापार होता था, वहीं देश भर में 20 हजार करोड़ के खिलौने बिकते थे.

सम्बंधित वीडियो गैलरी