लखनऊ: राजधानी के 12 स्कूलों का संचालन सिर्फ कागजों में, जांच शुरू

Smart News Team, Last updated: Mon, 11th Jan 2021, 4:15 PM IST
लखनऊ के 12 स्कूल सिर्फ कागजों में संचालित हो रहे हैं जबकि यह स्कूल बंद हो चुके हैं. बीते दिन यूपी बोर्ड परीक्षा के केंद्र बनाने के लिए स्कूलों का स्थलीय निरीक्षण किया गया तब इस बात का खुलासा हुआ. जिला शिक्षा विभाग के द्वारा जांच कर इन स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
राजधानी के 12 स्कूल लापता हैं.

लखनऊ. राजधानी में यूपी बोर्ड द्वारा संचालित 12 स्कूल लापता है जिसका खुलासा बीते दिनों हुई स्थलीय निरीक्षण में हुआ. निरीक्षण में यह बात सामने आई कि इन स्कूलों का संचालन नहीं हो रहा है. डीआईओएस का कहना है कि स्कूलों के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है. जो स्कूल अपने स्थान पर चलते हुए नहीं पाए गए हैं उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी.

आपको बता दें कि पिछले दिनों राजधानी में यूपी बोर्ड परीक्षा के केंद्र बनाने के लिए स्कूलों का स्थलीय निरीक्षण किया गया था. निरीक्षण के लिए राजकीय स्कूलों के शिक्षकों की टीम को जांच के लिए भेजा गया. जब शिक्षकों ने निरीक्षण किया तो 12 स्कूलों के संचालित नहीं होने की बात सामने आई.

लखनऊ: अभ्यर्थियों ने राष्ट्रपति व राज्यपाल को लिखा पत्र, इच्छा मृत्यु मांगी

ज्ञात हो कि लखनऊ में यूपी बोर्ड के निजी मान्यता प्राप्त स्कूलों की संख्या 600 है. इनमें से 300 स्कूलों को माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से सशर्त मान्यता प्रदान की गई है. उस समय दोनों कमरों में स्कूल संचालन की अनुमति शर्त के साथ दी गई कि वे निर्धारित समय सीमा में मान्यता की शर्तें पूरी कर लेंगे. लेकिन कई स्कूलों की ओर से अभी तक इन शर्तों को पूरा नहीं किया गया है.

सभी जिलों में होंगे चौरी-चौरा कांड के शताब्दी समारोह का आयोजन: यूपी सीएम योगी

इनमें से कुछ स्कूल तो बंद ही हो गए हैं लेकिन कागजों में इनका संचालन हो रहा है जो गैरकानूनी है. कई स्कूलों ने बाद में भी मानक पूरे करने पर ध्यान नहीं दिया जिसकी वजह से अब एक बार कार्रवाई की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें