रेमडेसिविर कालाबाजारी में KGMU के 2 टेक्नीशियनों की छुट्टी, नौकरी से निकाला

Smart News Team, Last updated: Sat, 5th Jun 2021, 8:33 PM IST
  • केजीएमयू में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में 2 टेक्नीशियन को नौकरी से निकाल दिया गया है. नौकरी से निकाले गए दोनों टेक्नीशियन संविदा पर बहाल थे. साथ ही इसके अलावा वजीरगंज थाने में दोनों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है.
नौकरी से निकाले गए दोनों टेक्नीशियन KGMU में संविदा पर बहाल थे.

लखनऊ- कोरोना संक्रमण के नए मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. इस बीच केजीएमयू में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी का मामला सामने आया है. बता दें कि कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है. रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले में केजीएमयू के दो टेक्नीशियन पर गाज गिरी है.

मिला जानकारी के मुताबिक, केजीएमयू में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में 2 टेक्नीशियन को नौकरी से निकाल दिया गया है. नौकरी से निकाले गए दोनों टेक्नीशियन संविदा पर बहाल थे. साथ ही इसके अलावा वजीरगंज थाने में दोनों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है.

लखनऊ मकान बिकाऊ है मामला: निगम का आदेश, खाली करो घर, स्कूल

क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग में संविदा पर तैनात डायलिसिस टेक्नीशियन सौरभ सिंह की 20 मार्च को कोविड ड्यूटी लगाई गई. मिली जानकारी के मुताबिक, लिम्ब सेंटर में यह ड्यूटी छह अप्रैल तक थी. इसी दौरान डॉक्टरों को सौरभ सिंह की गतिविधियों पर शक हुआ. रेमडेसिविर के इंजेक्शन के चोरी जाने की आशंका हुई. इसकी शिकायत विभाग के अधिकारियों ने चीफ प्रॉक्टर डॉ. क्षितिज श्रीवास्तव से की. जिसके बाद मामले में कार्रवाई हुई और दोनों आरोपियों को नौकरी से निकाल दिया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें