500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार, भर्ती प्रक्रिया के लिए 2 दिन और करना होगा इंतजार

Smart News Team, Last updated: Fri, 30th Apr 2021, 2:28 PM IST
लखनऊ में 500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार हो गया है. लेकिन भर्ती प्रक्रिया के लिए लोगों को 2 दिन और इंतजार करना होगा. शुक्रवार से इसका ट्रायल शुरू हो जाएगा. फायर में सफल होने पर 2 मई से भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी
लखनऊ में 500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार हो गया है.

लखनऊ. राजधानी के अवध शिल्प ग्राम में तैयार हो रहे अस्थाई कोविड अस्पताल में शुक्रवार से मरीजों की भर्ती नहीं हो सकेगी.इसके लिए लोगों का अभी दो दिन और इंतजार करना पड़ेगा. शुक्रवार से 24 घंटे का ट्रायल शुरू होगा. मॉकड्रिल के जरिये तैयारियों को देखा जाएंगा. सभी ट्रायल में सफल होने के बाद 2 मई से अस्पताल में मरीजों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो सकेगी.

आपको बता दें कि अस्पताल के लाइफ सपोर्ट सिस्टम और अन्य तैयारियों को जांचने के लिए सेना के डॉक्टर और मिलिट्री नर्सिंग सेवा (एमएनएस) के अधिकारी शुक्रवार को अस्थाई अस्पताल का निरीक्षण करेंगे. इमरजेंसी सेवा के लिए मॉक ड्रिल भी की जाएगी. यहां 500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार हो रहा है. मरीजों के लिए भर्ती प्रक्रिया को 30 अप्रैल से शुरू करने का लक्ष्य रखा था लेकिन अभी तैयारियां पूरी नहीं हो सकी हैं. क्योंकि जिस कम्पनी को आईसीयू बेड की आपूर्ति करना था, उसके कई कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

कोरोना काल में ऑक्सीजन, बेड और दवाई खोजने में ये सभी वेबसाइट कर सकती है आपकी मदद

जानकारी के अनुसार गुरुवार को मध्य कमान के कई वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने डीआरडीओ अस्पताल का दौरा किया. सेना ने अस्पताल में ऑक्सीजन की उपलब्धता को और सुदृढ़ करने के लिए कहा है. यहां पर 20 हजार लीटर की क्षमता का आक्सीजन टैंक लगाया गया है. इसके साथ ही अब यहां आक्सीजन कंस्ट्रेटर भी लगाया जाएगा. इससे मरीजों को 24 घंटे ऑक्सीजन की आपूर्ति बनी रहेगी.

कोरोना से उभरे सीएम योगी आदित्यनाथ, शुभचिंतकों को दिया धन्यवाद

गौरतलब है कि डीआरडीओ के इस अस्पताल में सीधे मरीजों को भर्ती नहीं किया जाएगा. रोजाना खाली बेड के आधार पर लालबाग स्थित कोविड कमांड सेंटर के माध्यम से मरीजों को भर्ती किया जाएगा. एम्बुलेंस से आने वाले मरीज को ट्राई एज भवन में स्क्रीनिंग होगी. इसके बाद आईसीयू या ऑक्सीजन वाले जनरल वार्ड में भेजा जाएगा. आईसीयू वार्ड में गंभीर मरीजों के लिए 25 विशेषज्ञ डाक्टरों की तैनाती होगी. इसके लिए सेना के तीन शहरों में स्थित यूनिटों से विशेष डाक्टरों को सेवा देने के लिए बुलाया गया है. इसके अलावा दिल्ली सेना के सबसे बड़े रेफरल और रिसर्च अस्पताल से भी डॉक्टर भी सेवा देने के लिए आएंगे. इसके अलावा आर्मी फील्ड अस्पताल से 80 एमएनएस अधिकारियों की तैनाती भी की जाएगी. साथ ही सरकार की ओर से भी डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ तैनात किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें