यूपी में अनियमितता बरतने के आरोप में मंडी परिषद के 6 अफसर निलंबित

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 05:08 PM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने कार्रवाई करते हुए अनियमितता बरतने के आरोप में मंडी परिषद के 6 अफसरों को निलंबित कर दिया है. इनमें अलग-अलग मंडलों में तैनात एक संयुक्त निदेशक और 5 उपनिदेशक स्तर के अफसर शामिल हैं.
मंडी परिषद के 6 अफसर सस्पेंड

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने कार्रवाई करते हुए अनियमितता बरतने के आरोप में मंडी परिषद के 6 अफसरों को निलंबित कर दिया है. इनमें अलग-अलग मंडलों में तैनात एक संयुक्त निदेशक और 5 उपनिदेशक स्तर के अफसर शामिल हैं. मंडी परिषद बोर्ड की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत निलंबन की ये कार्रवाई की गई है. मण्डी निदेशक जेपी सिंह ने सभी के निलंबन आदेश जारी कर दिए हैं.

मंडी निदेशक के मुताबिक मंडी परिषद के अपर निदेशक को अनियमितताओं की जांच की जिम्मेदारी दी गई है. इसके साथ ही उन्हें निर्देश दिए गए हैं कि वे जल्द से जल्द जांच पूरी कर चार्जशीट दाखिल करें.

UP विधानसभा में शिक्षामंत्री की टिप्पणी पर लालजी वर्मा ने जताई आपत्ति,मांगी माफी

जेपी सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मंडी परिषद मुख्यालय में संयुक्त निदेशक निर्माण के पद पर तैनात गोपाल शंकर पर साल 2007 से 2014 के बीच आगरा में उप निदेशक निर्माण रहते हुए गंभीर अनियमितताओं का आरोप है. इनके अलावा उप निदेशक निर्माण हरी राम पर अयोध्या में निर्माण खंड में तैनाती के दौरान अनियमितता का आरोप है.

लखनऊ: अबू बकर बाबू बनकर महिला के साथ लिव-इन में रहा, दोनों की हुई बेटी और फिर...

उप निदेशक निर्माण राम नरेश पर करनैलगंज नवीन मण्डी में अनियमितता बरतने का आरोप है, जबकि उप निदेशक निर्माण अशोक कुमार पर मिर्जापुर निर्माण खण्ड में कोरोना काल के दौरान अपने दायित्वों का पालन न करने का आरोप है. अशोक कुमार के खिलाफ अनुशासनहीनता की भी कई शिकायतें हैं. इसी प्रकार उप निदेशक निर्माण अतर सिंह पर शाहजहांपुर के बण्डा में अनियमितता का आरोप है. इसके अलावा उप निदेशक (प्रशासन/निर्माण) के पद पर गाजियाबाद के साहिबाबाद में भारी भ्रष्टाचार करने का आरोप है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें