कोरोना वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए 6 हजार वैन की जरूरत

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 12:24 PM IST
कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित रखने के लिए राज्य सरकार को 6 हजार रिफर (रेफ्रिजरेटेड) वैन की आवश्यकता है. प्रदेश सरकार इसके इंतजाम में जुट गई है.
कोरोना वैक्सीन का ट्रायल भारत में चल रहा है.

लखनऊ: कुछ दिनों के बाद प्रदेश को मिलने वाली कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह से सुरक्षित रखने के लिए राज्य सरकार को 6 हजार रिफर (रेफ्रिजरेटेड) वैन की आवश्यकता है. प्रदेश सरकार इसके इंतजाम में जुट गई है. साथ ही सरकार द्वारा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि वह वैक्सीन को दूरदराज के क्षेत्र में जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए अभी से पूरी रणनीति तैयार करें.

वहीं दूसरी तरफ प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों तथा फ्रोजन मीट को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने वाले रिफर वैन के लिए उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, पशुपालन विभाग तथा दुग्ध विकास विभाग से उनके पास उपलब्ध अतिरिक्त रिफर वैन की जानकारी मांगी गई है ताकि समय रहते उसकी जांच कराकर जो तकनीकी गड़बड़ी हो उस सही किया जा सके.

बिना एग्रीमेंट के मकान मालिक नहीं रख सकेंगे किराएदार

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एक शीर्ष अधिकारी के मुताबिक, सरकार की एक बड़ी टीम कोरोना वैक्सीन के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कराने में जुटी हुई है. जिसकी निगरानी मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समिति कर रही है.

UP: पुरानी गाड़ियों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना जरूरी नहीं

बता दें कि वैक्सीन को माइनस 20 से लेकर माइनस 60 डिग्री तक के तापमान में ही सुरक्षित रहने की बात की जा रही है. ऐसे में ग्रामीण इलाकों में उसके अनुकूल तापमान कैसे बनाए रखा जाए उस दिशा में तेजी से कार्य शुरू कर दिया गया है. अनुमान लगाया जा रहा है कि 24 करोड़ की आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में कम से कम 6 हजार रिफर वैन की जरूरत पड़ेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें