यूपी में MBBS की 900 सीटें बढ़ेंगी, 9 नए कॉलेज में होंगे एडमिशन

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Jul 2021, 6:30 AM IST
  • यूपी में इस साल छात्रों को एमबीबीएस में दाखिले के और मौके मिलने वाले हैं. बताया जा रहा है कि प्रदेश के नौ नए कॉलेजों में एमबीबीएस की पढ़ाई होगी. हर कॉलेज में 100 सीटें हैं, जिसके हिसाब से इस साल 900 अधिक सीटों पर दाखिलें होंगे.
यूपी में एमबीबीएस की 900 सीटें बढ़ेंगी

अब जो छात्र MBBS डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं उनके लिए बड़ी खुशखबरी है. जी हां, जानकारी के मुताबिक इस साल छात्रों को MBBS में दाखिले के और मौके मिलने जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि प्रदेश के 9 नए कॉलेजों में MBBS की पढ़ाई शुरू की जा रही है, जहां हर कॉलेज में 100 सीटें बाकी हैं. इस लिहाजा से अलग देखा जाए तो पिछले साल के मुकाबले इस साल 900 से ज्यादा सीटों पर MBBS की पढ़ाई करने वाले छात्रों के दाखिलें होंगे. 

वहीं जानकारी में मुताबिक नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट ( नीट ) परीक्षा के जरिए MBBS में दाखिले होंगे. 1 अगस्त से नीट की परीक्षा प्रस्तावित है. इतना ही नहीं अगर अनुमान लगाया जाए तो इस परीक्षा में इस बार लाखों अभ्यर्थियों के शामिल होने की उम्मीद लगाई जा रही है. साथ ही चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों की तरह से दी गई जानकारी के मुताबिक 9 नए मेडिकल कॉलेज खोले गए हैं. 

CM योगी का पुतला जलाने के मामले में SP कार्यकर्ताओं को HC से मिली जमानत

जहां हर कॉलेज में MBBS की 100 सीटें होंगी. इसके अलावा कॉलेजों के प्राचार्यों ने MBBS की मान्यता के लिए नेशनल मेडिकल काउंसिल ( NMC ) में आवेदन भी कर दिया है, जिसे जल्द ही मंजूरी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है, जिसमें नए शैक्षिक सत्र से कॉलेजों में दाखिले होंगे. साथ ही नए कॉलेजों में शिक्षक और कर्मचारियों की भर्ती के निर्देश दिए गए हैं. कुछ कॉलेजों में भर्ती प्रक्रिया चालू हो गई है.

यहां होगी एमबीबीएस की पढ़ाई

एटा, हरदोई, सिद्धार्थनगर, देवरिया, गाजीपुर, प्रतापगढ़, फतेहपुर, जौनपुर और मिर्जापुर में मेडिकल कॉलेज हैं.

फैक्ट फाइल

1). 22 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 2928 एमबीबीएस की सीटें

2). 29 प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में 4159 एमबीबीएस सीटें

3). 70 सीटें केजीएमयू में बीडीएस की सीटें हैं

4). 22 प्राइवेट कॉलेज में बीडीएस की 2200 सीटें

यूपी पुलिस ने पकड़ा आठवीं पास साइबर ठगों का गिरोह, जानें कैसे करते थे चोरी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें