यूपी चुनाव: एबीपी-सी वोटर सर्वे में सीएम योगी के लिए गुड न्यूज, फिर से बीजेपी सरकार

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 4th Sep 2021, 8:14 AM IST
  • यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले आए एबीपी- सी वोटर सर्वे ने यूपी चुनाव में सियासी हलचल बढ़ा दी है. सर्वे में 2022 में फिर भाजपा सरकार बनती नजर आ रही है, वहीं, जीत का दावा करने वाली सपा की सीट तो बढ़ रही है, लेकिन सत्ता से वो दूर ही दिख रहे हैं.
सी वोटर सर्वे के अनुसार, यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा फिर सत्ता में काबिज

लखनऊ. यूपी विधानसभा 2022 चुनाव की तैयारियों को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. राजनैतिक यात्राओं, सभाओं से लेकर बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. सभी दल एक-दूसरे पर आरोप लगाकर खुद को श्रेष्ठ साबित करने में लगे हैं. इसी बीच एबीपी-सी वोटर का सर्वे सामने आया है. इस सर्वे में यूपी में कई राजनैतिक दलों की चिंता बढ़ा दी है. हालांकि सत्ता में काबिज भाजपा के लिए यह सर्वे गुड न्यूज लेकर आया है. सी वोटर सर्वे के अनुसार, यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा फिर सत्ता में आ रही है, सीटों की संख्या कम हो सकती है. वहीं, सपा की सीटों की संख्या तो बढ़ रही है लेकिन सत्ता काबिज करते हुए नहीं नजर आ रहे हैं. वहीं, बसपा में कोई खासा अंतर नजर नहीं आ रहा है. साथ ही प्रियंका गांधी का जादू चलता नहीं नजर आ रहा है, कांग्रेस पहले की तरह की कुछ सीटों पर है और उसे उससे ही संतोष करना पड़ेगा.

भाजपा को सीटों का नुकसान, सपा को मिलेगी बढ़त

सी वोटर सर्वे के अनुसार, भाजपा सत्ता में दोबारा जरूर वापस आ रही है, लेकिन उसको सीटों का काफी नुकसान हो रहा है. सर्वे अनुसार भाजपा को करीब 259 से लेकर 267 के बीच सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. वहीं, समाजवादी पार्टी मजबूत विपक्ष के रूप में निकलकर सामने आ रही है. सपा को इस चुनाव में 109 से 119 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं. जिसके अनुसार, 2017 में भाजपा ने 312 सीटें जीती थी और सपा ने 47 सीटों पर जीत दर्ज करवाई थी, लेकिन इस बार 2022 के चुनाव में जहां सपा को 60 से अधिक सीटों की बढ़त मिल रही है, वहीं भाजपा को इतनी सीटों का नुकसान हो रहा है.

UP विधानसभा चुनाव में होगी BJP की जीत! कांग्रेस के हिस्से आएगी सिर्फ इतनी सीटें: ABP-सी वोटर सर्वे

नहीं दिख रहा प्रबुद्ध सम्मेलन का जादू, प्रियंका भी बेअसर

सी वोटर के सर्वे को माने तो 2022 यूपी विधानसभा चुनाव में बसपा जस की तस नजर आ रही है. कभी प्रदेश की सत्ता में काबि पार्टी 403 सीटों में सिर्फ 12 से 16 सीटों के बीच ही दिख रही है और 2017 में पार्टी ने 19 सीट पर जीत दर्ज की थी. वहीं, बसपा के प्रबुद्ध सम्मेलन का जिस तरह से बसपा को फायदा दिख रहा है वहीं, जमीनी स्तर पर वो सर्वे में नहीं दिखा.

योगी सरकार चुनावी साल में अयोध्या दीपोत्सव को बनाएगी ऐतिहासिक, लोगो से मांगा सुझाव

 कांग्रेस में भी प्रियंका यूपी में बेअसर नजर आ रही हैं. 20117 में 7 सीटों से संतोष करने वाली देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी को 2022 में सर्वे में सिर्फ 3 से 7 सीटें मिलती दिख रही हैं जो अन्य की सीटों से भी कम है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें