UP के गांवों के लिए नए आदेश जारी, कोरोना के साथ ब्लैक फंगस से निपटने की तैयारी शुरू

Smart News Team, Last updated: Sun, 23rd May 2021, 1:14 PM IST
  • कोरोना और ब्लैक फंगस से निपटने के लिए यूपी में नए आदेश जारी किए गए है. एडिशनल चीफ सेक्रेटरी हेल्थ ने कहा है कि राज्य के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए. साथ ही गांव के इलाकों में कोविड प्रोटोकोल का पालन करते हुए सभी पीएचसी/सीएचसी को और स्वास्थ्य उपकरणों को चालू हालत मे लाया जाए.
यूपी के सभी ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों पर डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ रहे मौजूद.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ: यूपी में कोरोना और ब्लैक फंगस का प्रकोप लगातार जारी है. दूसरी लहर में ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है. स्थिति को कंट्रोल करने के लिए एडिशनल चीफ सेक्रेटरी हेल्थ अमित मोहन ने ग्रामीण क्षेत्रों के लिए नए आदेश जारी किये हैं. उन्होंने कहा है कि राज्य के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ की उपस्थिति सुनिश्चित करें. साथ ही गांव के इलाकों में कोविड प्रोटोकोल का पालन करते हुए सभी पीएचसी/सीएचसी को और स्वास्थ्य उपकरणों को चालू हालत मे लाया जाए.

अपर मुख्य सचिव ने कहा, कि ब्लैक फंगस के लिए सभी जिला अस्पतालों में रोजाना सुबह 10 से 12 बजे तक नेत्र विशेषज्ञ और ई.इन.टी की ओपीडी को कोविड प्रोटोकॉल के तहत शुरू किया जाए. साथ ही जिलों के आईसीसीसी ( ICCC ) में डॉक्टर्स की ड्यूटी आवश्यकतानुसार ही लगाई जाए, जिससे वह ड्यूटी पीएचसी, सीएचसी में उपलब्धता के लिए उपयोग हो. साथ ही उन्हें कहा कि पीएचसी के ओपीडी को बंद करने के कोई निर्देश नहीं हैं.

यूपी में बढ़ता ब्लैक फंगस का कहर, मरीजों की संख्या 500 के पार

यूपी में ब्लैक फंगस के मामलों की सख्या 500 के पार पहुंच गई है. स्वास्थ्य महानिदेशालय से मिली जानकारी के अनुसार, बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले मेरठ में सामने आए है. ब्लैक फंगस ने राज्य में अबतक 19 लोगों को अपना शिकार बना लिया है. वहीं शनिवार को लखनऊ में ब्लैक फंगस के 22 मामले और वाराणसी में 18 मामले सामने आए है. सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज में प्रयोग होने वाली दवाई की कालाबाजारी को रोकने के लिए नए नियम लागू किए है. इसमें लाइपोसोमल एम्फोटेरीसीन-बी इंजेक्शन व दवाएं खुले बाजार में नहीं बिकेंगी.

मुख्यमंत्री का खास बताकर सरकारी अधिकारियों से लूट करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

होम आइसोलेट कोरोना मरीजों और मृतकों को नहीं मिला रहा बिमा क्लेम, इंश्योरेंस कंपनी ने किया मना

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें