UP में ब्लॉक प्रमुख नामांकन में मारपीट, हिंसा पर ADG बोले- पहले से कम हुआ है

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 8:45 PM IST
  • ब्लॉक प्रमुख नामांकन में हुई हिंसा पर ADG प्रशांत कुमार ने कहा है कि पिछले ब्लॉक प्रमुख चुनाव की तुलना में इस बार कम हिंसा हुई. 14 जिलों से गड़बड़ी की शिकायतें आई हैं. उन्होंने आगे कहा कि गड़बड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.
यूपी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन जमकर बवाल हुआ.

लखनऊ. ब्लॉक प्रमुख नामांकन में हुई हिंसा पर ADG प्रशांत कुमार ने कहा है कि पिछले ब्लॉक प्रमुख चुनाव की तुलना में इस बार कम हिंसा हुई. 14 जिलों से गड़बड़ी की शिकायतें आई हैं. उन्होंने आगे कहा कि गड़बड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. साथ ही आरोपियों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं. बता दें कि यूपी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए चल रहे नामांकन के अंतिम दिन जमकर बवाल हुआ. सीतापुर, लखीमपुर खीरी, अंबेडकरनगर, मऊ, जौनपुर और फतेहपुर जिलों में भाजपा और सपा कार्यकर्ताओं के बीच जमकर तीखी नोकझोंक हुई. कई जगह सपा ने आरोप लगाया है कि उसके कैंडिडेट को रोका गया, पर्चा छीना गया, पर्चा फाड़ा गया. कुछ जगह कैंडिडेट, प्रस्तावक या समर्थकों को अगवा करने की भी कोशिश हुई.

इस दौरान कई जगहों से हिंसा की खबरें सामने आई है. फतेहपुर में स्थिति को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. जबकि लखीमपुर खीरी में कथित तौर पर सपा प्रत्याशी की प्रस्ताव के साथ बदसलूकी की बात सामने आ रही है. मिली जानकारी के मुताबिक, यूपी के अधिकांश जिलों में नामांकन के दौरान जमकर बवाल हुआ.

अखिलेश यादव बोले- जिला पंचायत चुनावों में भाजपा ने लोकतंत्र का खुलकर मजाक बनाया

इसी तरह खीरी जिले के पसगवां ब्लाक में ब्लाक प्रमुख चुनाव में जबरदस्त हंगामा हुआ. सपा समर्थकों का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सपा प्रत्याशी रीतू सिंह का नामांकन नहीं होने दिया. सपा का आरोप है कि ब्लॉक में दाखिल हो रहीं प्रत्याशी की प्रस्तावक अनीता को सड़क से खींच लिया गया. इस दौरान उसके साथ मारपीट की गई. सपा का आरोप है कि यह सब पुलिस के सामने हुआ लेकिन पुलिस तमाशबीन बनी रही.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें