मोदी सरकार के शादी की उम्र बढ़ाने के फैसले पर AIMPLB और देवबंद ने जताया विरोध

ABHINAV AZAD, Last updated: Tue, 21st Dec 2021, 11:15 AM IST
  • ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) और देवबंद ने केंद्र की मोदी सरकार के लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल करने के फैसले का विरोध किया है. AIMPLB का कहना है कि कभी-कभी ऐसे हालात हो जाते हैं, जिसमें कम उम्र में लड़की की शादी करनी पड़ती है. इसलिए शादी की उम्र बढ़ा कर फिक्स कर देना लड़कियों के लिए ठीक नहीं होगा.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. केंद्र की मोदी सरकार ने लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. लेकिन अब इस फैसले के खिलाफ देवबंद से लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड समेत कई संगठन ने विरोध जताया है. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि सरकार को ऐसा नहीं करना चाहिए. बोर्ड की दलील है कि ऐसा करने से जुर्म बढ़ेंगे. गौरतलब है कि इससे पहले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने इसका विरोध करते हुए विवादित बयान दिया था. सपा सांसद ने कहा था कि सरकार के इस फैसले से अवारगी बढ़ जाएगी.

दरअसल, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि आम तौर पर लोग लड़की की शादी कम उम्र में नहीं होती. लेकिन कभी-कभी ऐसे हालात हो जाते हैं, जिसमें कम उम्र में लड़की की शादी करनी पड़ती है. इसलिए शादी की उम्र बढ़ा कर फिक्स कर देना लड़कियों के लिए ठीक नहीं होगा. बोर्ड की दलील है कि शादी करने की सही उम्र इंसान के सेहत और आमदनी के मुताबिक होता है. अगर किसी के पास सलाहियत है तो उसको शादी करने की आजादी होनी चाहिए.

SP संरक्षक मुलायम से मिले RSS चीफ भागवत, UP कांग्रेस बोली- 'स' का मतलब संघवाद

वहीं, सरकार के इस फैसले पर देवबंदी उलेमा मुफ्ती असद कासमी ने नाराजगी जताई है. वह कहते हैं कि इस्लाम के अंदर भी यही बताया गया है कि 18 साल की उम्र में लड़की बालिग हो जाती है और उनकी कुछ ख्वाहिश भी होती है और अगर लड़का-लड़की से कुछ गुनाह हो जाए तो उस गुनाह में उनके मां-बाप भी शामिल हो जाते हैं. उन्होंने आगे कहा कि 8 साल की उम्र बिल्कुल सही थी लेकिन सरकार जो कर रही है वह किसी के कहने से नहीं रुकने वाली, इसलिए जो कर रही है, करने दो, जो शरीयत में था वह हमने आपको बता दिया. इस मामले पर कांग्रेस नेता राशिद अल्वी का कहना है कि अगर 15-16 साल मे कोई लडकी शादी करना चाहे तो उसे अपने मां-बाप से रजामंदी लेनी चाहिये. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत सरकार तानाशाह सरकार है, इसको सभी लोगों से बात करनी चाहिये.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें