UP पुलिस को कोर्ट से बड़ा झटका, गिरधारी एनकाउंटर में पुलिस वालों पर FIR का आदेश

Smart News Team, Last updated: 25/02/2021 09:04 PM IST
  • अजीत सिंह हत्याकांड के आरोपी शूटर गिरधारी के कथित एनकाउंटर मामले में सीजेएम लखनऊ ने संबंधित पुलिसकर्मियों के ऊपर एफआईआर दर्ज करने का आदेश थाना हजरतगंज को दिया है.
UP पुलिस को कोर्ट से बड़ा झटका, गिरधारी एनकाउंटर में पुलिस वालों पर FIR का आदेश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी में हुए पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में शामिल शूटर गिरधारी की पुलिस मुठभेड़ में हुई मौत के मामले में सीजीएम सुशील कुमारी ने संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है.  

गौरतलब है कि पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में शामिल गिरधारी को पुलिस ने लखनऊ के विभूति खंड इलाके में मार गिराया था. पुलिस के अनुासर उस समय गिरधारी हिरासत से छूटकर भागने की कोशिश कर रहा था. इसी दौरान पुलिस की गोली लगने से वह मारा गया. इस संबंध में हाल ही में सीजीएम कोर्ट ने यूपी पुलिस को नोटिस भी जारी किया था जिसके बाद अब एफआईआर का आदेश दिया गया है.

सपा MLC पर भड़के CM योगी ने विधानसभा में कहा- सबका पेट दर्द दूर किया जाएगा

मालूम हो कि कुछ दिनों पहले राजधानी लखनऊ में हथियारबंद अपराधियों ने मऊ जिले में पूर्व ब्लॉक प्रमुख रहे अजीत सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग की. इस वारदात के बाद मौके पर अजीत सिंह की मौत हो गई थी. इसके साथ ही गोलीबारी में अजीत सिंह का एक साथी और वहां से गुजर रहा डिलीवरी ब्वॉय भी घायल हुआ था.

UP पुलिस में 9534 पदों पर वैकेंसी, UPPRPB ने जारी किया नोटिफिकेशन, फुल डिटेल्स

पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के बाद पुलिस की जांच में कुंटू सिंह और गिरधारी का नाम सामने आया था. आरोपी कुंटू सिंह बसपा के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या में भी शामिल रहा है. पुलिस के साथ कथित एनकाउंटर में मारा गया गिरधारी कुंटू सिंह का शूटर है जिसपर पुलिस ने एक लाख रुपयों का इनाम भी घोषित किया था.

पति ने होटल में रेड मारकर आशिक संग रंगरेलियां मनाती बीवी को रंगे हाथ पकड़ा

वहीं इस हत्याकांड में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह का नाम भी पुलिस जांच सामने आया था. पुलिस ने जांच के बाद पूर्व सांसद को अजीत हत्याकांड का साजिशकर्ता बताया, जिसके बाद कोर्ट ने धनंजय सिंह के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर दिया. फिलहाल धनंजय सिंह अभी फरार हैं. अगर वे गिरफ्तार नहीं होते हैं तो पुलिस उन्हें भगौड़ा घोषित कर संपत्ति भी कुर्क कर सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें