आजम खान के समर्थन में 12 से 21 मार्च तक रामपुर से लखनऊ साइकिल यात्रा निकालेगी SP

Smart News Team, Last updated: 06/03/2021 05:55 PM IST
  •  सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां के समर्थन में 12 मार्च से 21 मार्च तक रामपुर से लखनऊ तक साइकिल यात्रा निकालेगी. इस साइकिल यात्रा की शुरुआत आजम खान के गृह जिला रामपुर से होकर लखनऊ में सामाजवादी पार्टी कार्यालय पर इस साइकिल यात्रा का समापन होगा.
आजम खान के समर्थन में 12 से 21 मार्च तक रामपुर से लखनऊ साइकिल यात्रा निकालेगी SP

लखनऊ: अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने ऐलान किया है की उनकी पार्टी जेल में बंद सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां के समर्थन में 12 मार्च से 21 मार्च तक रामपुर से लखनऊ तक साइकिल यात्रा निकालेगी. इस साइकिल यात्रा की शुरुआत आजम खान के गृह जिला रामपुर से होकर लखनऊ में सामाजवादी पार्टी कार्यालय पर इस साइकिल यात्रा का समापन होगा. इस यात्रा का आयोजन समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर हो रहा है. इसकी घोषणा समाजवादी पार्टी के ट्विटर अकाउंट से की गई.

अखिलेश यादव के निर्देश के अनुसार सामाजवादी पार्टी की ओर से साइकिल रैली की रूपरेखा तय कर दी गई है. अखिलेश यादव 12 मार्च को मुरादाबाद से सड़क के रास्ते दोपहर दो बजे जौहर यूनिवर्सिटी पहुंचेंगे. यहां पर पत्रकारों से बात करेंगे. इसके बाद जौहर यूनिवर्सिटी में तीन बजे एक जनसभा को संबोधित करेंगे. जनसभा में विधानसभा में विरोधी दल के नेता रामगोविंद चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, विधायक डॉ. तजीन फात्मा, नसीर खां, फहीम इरफान और सपा के जिलाध्यक्ष अखिलेश यादव हिस्सा लेंगे. सभा के बाद अखिलेश यादव सामाजवादी पार्टी के विधायकों और कार्यकर्ताओं के साथ जौहर यूनिवर्सिटी से आंबेडकर पार्क तक लगभग 11 किलोमीटर लंबी साइकिल रैली निकालेंगे. साइकिल रैली के बाद अखिलेश यादव 12 मार्च को रात्रि विश्राम हमसफर रिसोर्ट में करेंगे जो की आजम खां का है.

अमेठी का काम कराने CM योगी आदित्यनाथ से मिलने लखनऊ पहुंचीं स्मृति ईरानी

2017 में सामाजवादी पार्टी के सत्ता से जानें और भारतीय जनता पार्टी के सत्ता में आने के बाद पूर्व मंत्री आजम खां की मुश्किलें बढ़ गई हैं. जिसके बाद सांसद आजम खान समेत उनकी पत्नि बेटा अब्दुल्ला आजम पर दर्जनों केस दर्ज हुए जिसमें बीते 26 फरवरी 2020 को दो बर्थ सर्टिफिकेट और दो पैन कार्ड रखने के आरोप में आजम खां अपनी पत्नि बेटे संग कोर्ट में पेश हुए थे जहां से कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया था. 27 फरवरी 2020 की सुबह उन्हें सुरक्षा कारणों का हवाला देकर रामपुर जेल से सीतापुर की जिला जेल में भेज दिया गया था. 

LDA पहुंची मुख्तार अंसारी के रानी सल्तनत बिल्डिंग, कॉप्लेक्स को गिराने का काम शुरू

21 दिसम्बर 2020 को आजम खां की पत्नि तंजीम फातिमा की सभी केसों में जमानत मंजूर हो गई और वह जमानत पर अपने घर आ गई थी. सांसद आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खां फिलहाल जेल में हैं. शत्रु सम्पत्ति केस में सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम खान को एमपी एमएलए कोर्ट से राहत मिली थी. कोर्ट में अबदुल्ला की जमानत याचिका पर बहस हुई और काेर्ट ने जमानत याचिका को मंजूर कर लिया. 

लखनऊ से चलेगी IRCTC की टूरिस्ट ट्रेन, कराएगी नॉर्थ-ईस्ट का सफर, जानें डिटेल्स

सांसद आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट मोलाना मुहम्मद अली जाैहर विश्वविद्यालय में शत्रु सम्पति कब्जाने के आरोप में बीजेपी नेता आकाश हनी ने आजम अबदुल्ला के खिलाफ केस दर्ज कराया था. इस केस में जमानत तो मिली है लेकिन अन्य मामलों में अभी अब्दुल्लाह आजम को जमानत नहीं मिलने से वो अभी भी जेल में हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें