अखिलेश बोले- पहले मंत्री पद छोड़ो, अनुप्रिया पटेल बोलीं- राजनीति में कुछ भी संभव

Smart News Team, Last updated: Sat, 11th Dec 2021, 6:32 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव ने अपना दल (सोनेवाल) से गठबंधन पर कहा कि अनुप्रिया पटेल केंद्रीय मंत्री का पद छोड़ें, फिर देखेंगे. अनुप्रिया ने कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है.
यूपी चुनाव में गठबंधन को लेकर अनुप्रिया पटेल और अखिलेश यादव के बीच बयानबाजी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव छोटे दलों को अपने साथ लाकर गठबंधन बनाने की कवायद में जुटे हैं. अपना दल (सोनेवाल) को गठबंधन में शामिल करने के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि अनुप्रिया पटेल पहले मंत्री पद छोड़ें, फिर देखेंगे कि उन्हें साथ लाना है या नहीं. दूसरी ओर, केंद्रीय राज्य मंत्री एवं अपना दल (सोनेवाल) की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है, अभी उनका दल बीजेपी के साथ है.

अपना दल की अध्यक्ष केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि विकास और सामाजिक न्याय के एजेंडे के साथ एनडीए गठबंधन के साथ उनका दल चुनाव मैदान में जाएगा. विकास और सामाजिक न्याय बीजेपी और अपना दल का कॉकटेल एजेंडा होगा. उन्होनें यह भी कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है. फिलहाल उनका दल BJP के साथ है. 69 हजार शिक्षक भर्ती के मुद्दे पर वह बोलीं कि सरकार इसे लेकर गंभीर है, बहुत जल्द इसका समाधान करेगी.

स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, 20 दिसंबर से टैबलेट-स्मार्टफोन बांटेगी योगी सरकार

अनुप्रिया की मां कृष्णा पटेल सपा के साथ गठबंधन में लड़ेंगी चुनाव

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की मां और अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल समाजवादी पार्टी से हाथ मिला चुकी हैं. कृष्णा ने पिछले महीने लखनऊ में अखिलेश यादव के साथ मुलाकात कर आगामी विधानसभा चुनाव सपा के साथ मिलकर लड़ने का एलान किया. मां कृष्णा और बेटी अनुप्रिया एक-दूसरे की राजनीतिक विरोधी हैं. ऐसे में अनुप्रिया का बीजेपी का साथ छोड़कर सपा में आना नाममुकिन लग रहा है.

सपा का सहयोगी दलों को 50 सीटें देने का प्लान-

समाजवादी पार्टी अपने सहयोगी दलों को 50 सीटें देने का प्लान बना रही है. अभी सपा के साथ गठबंधन में राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी), सुहेलदेव समाज पार्टी (सुभासपा) और अपना दल (कमेरावादी) जैसे दल हैं. आम आदमी पार्टी का भी गठबंधन में आना लगभग तय माना जा रहा है. सपा का प्लान है कि 403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में वह कम से कम 350 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे. वहीं, अन्य सीटों पर सहयोगी दल चुनाव लड़ें.

PM नरेंद्र मोदी ने किया सरयू नहर का लोकार्पण, UP के 9 जिलों के किसानों को फायदा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें