सपा की विजय रथ यात्रा 12 अक्टूबर से, अखिलेश यादव जनता से करेंगे परिवर्तन की अपील

Ankul Kaushik, Last updated: Tue, 5th Oct 2021, 3:36 PM IST
  • समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा की विजय रथ यात्रा 12 अक्टूबर से शुरू होगी. सपा की विजय रथ यात्रा के जरिए अखिलेश यादव जनता से प्रदेश में परिवर्तन की अपील करेंगे. इसके साथ ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव हर जिले और तहसील तक जाएंगे.
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, फोटो क्रेडिट (ANI)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा की विजय रथ यात्रा 12 अक्टूबर से शुरू होगी. अखिलेश यादव सपा की विजय रथ यात्रा में जनता से परिवर्तन की अपील करते हुए हर जिले और तहसील तक जाएंगे. आगामी विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए अखिलेश ने कहा- आगामी विधानसभा चुनाव में हम लोकप्रिय चेहरों को चुनावी मैदान में उतारेंगे. हम इस पर काम कर रहे हैं और चुनाव की तारीखें आते ही उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करेंगे.

इस यात्रा को लेकर अखिलेश ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा- हमें फिर से रथ यात्रा करने का मौका मिल रहा है और यह समाजवादी पार्टी की विजय यात्रा है. उत्तर प्रदेश के लोग बीजेपी सरकार से निराश हैं. वहीं अखिलेश ने एएनआई से बात करते हुए बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए लखीमपुर खीरी घटना का भी जिक्र किया. अखिलेश ने कहा हमें विश्वास नहीं है कि बीजेपी सरकार लखीमपुर घटना के दोषियों को कटघरे में खड़ा करेगी. हम किसानों से इस सरकार को सत्ता से बाहर करने की अपील करते हैं. वीडियो और मौके पर मौजूद लोगों ने गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे के साथ-साथ अन्य लोगों की संलिप्तता का सबूत दे दिया है.

हिरासत में प्रियंका गांधी बोलीं- UP के लिए आवाज उठाने में मायावती, अखिलेश नाकाम रहे

गृह राज्य मंत्री के वाहनों ने किसानों को टक्कर मार दी जिससे उनकी मौत हो गई. अगर अजय मिश्रा टेनी अब भी मंत्री हैं तो उनके घर में पुलिस कैसे घुसेगी? उन्हें इस्तीफा देना चाहिए और आरोपी को गिरफ्तार किया जाना चाहिए. विपक्षी नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने से रोकने के लिए सरकार ने पुलिसकर्मियों को तैनात किया. जब तक हम जाने के लिए तैयार हुए तो मेरे घर के बाहर पुलिस और आरएएफ के जवान और बैरिकेडिंग मौजूद थे. मैं जल्द ही लखीमपुर खीरी में मरने वाले लोगों के परिवार से मिलूंगा.

प्रियंका गांधी का लखनऊ पहुंचे PM मोदी से सवाल- कब होगी किसानों को कुचलने वाले की गिरफ्तारी

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने किसान आंदोलन पर बोलते हुए कहा कि ये 3 कानून अगर लागू हो गए तो हो सकता है भविष्य में किसानों से खेत और जमीन भी छिन जाएं. ये कानून खत्म हों और लखीमपुर की घटना की जितनी निंदा की जाए कम है. अंग्रेजों ने भी इतना जुल्म और अन्याय नहीं किया होगा जितना बीजेपी सरकार में किसानों पर अन्याय हो रहा है. वहीं आगामी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें