अलीगंज पुलिस ने कैफे मालिक पर किया था झूठा केस, सीबीसीआईडी की जांच में निर्दोष साबित

Smart News Team, Last updated: Fri, 2nd Apr 2021, 1:15 PM IST
  • सीबीसीआईडी ने अलीगंज सिटी कैफे मालिक मनीष मिश्रा और उनके नौकर इरफान पर दर्ज 5 फर्जी मुकदमों में निर्दोष साबित किया. तत्कालीन चौकी प्रभारी ने पूर्व आईपीएस के बेटे के साथ मिलकर फर्जी मुकदमा दर्ज करने की साजिश रची थी. सीआईडी सीआईडी के जांच में 2 सब इंस्पेक्टर समेत चार पुलिसवालों को दोषी पाया गया है. सभी दोषी पुलिस वालों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज किया गया.
अलीगंज पुलिस ने कैफे मालिक पर किया था झूठा केस. ( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ: साल 2018 में अलीगंज सिटी कैफे मालिक मनीष मिश्र और उनके नौकर इरफान पर दर्ज पांच फर्जी मुकदमों में सीबीसीआईडी ने दोनों को निर्दोष साबित किया है. सीबीसीआईडी की जांच में तत्कालीन चौकी प्रभारी नेपाल सिंह, सब इंस्पेक्टर वीरभान सिंह, सिपाही पंकज राय और मिथिलेश गिरी को दोषी पाया गया है. सभी दोषी पुलिसवालों पर गुरुवार को अलीगंज थाने में एफ आई आर दर्ज करा दिया गया. साल 2018 में गल्ला मंडी चौकी प्रभारी नेपाल सिंह ने साजिश के तहत कैफे मालिक मनीष मिश्र और उनके दिव्यांग नौकर इरफान उर्फ़ राजू को एटीएम में चोरी और चार अन्य फर्जी मामलों में झूठा मुकदमा दर्ज कर अपराधी बना दिया था.

चौकी प्रभारी नेपाल सिंह ने यह झूठा मुकदमा एक रिटायर आईपीएस के बेटे संतोष कुमार के कहने पर किया था. दरअसल साल 2012 में मनीष मिश्र ने अहिबरनपुर के रहने वाले संतोष कुमार से किराए पर दुकान लेकर एक सिटी कैफे नाम से रेस्तरां खोला. मनीष मिश्र कैफे से कुछ ही दिनों में अच्छा लाभ कमाने लगे. कैफे के मालिक मनीष ने किराए के दुकान को संतोष से 40 लाख रुपए में खरीदने का सौदा किया. इसके लिए मनीष ने दुकान मालिक संतोष के अकाउंट में 20 लाख रुपए भी जमा करा दिया. 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और परिवहन मंत्री नितिन गड़करी पहुंचे लखनऊ, CM योगी संग करेंगे फ्लाईओवर का उद्घाटन

दुकान की रजिस्ट्री के समय संतोष टालने लगा. इसके खिलाफ मनीष ने गल्ला मंडी पुलिस चौकी में तहरीर दे दी. तत्कालीन चौकी प्रभारी नेपाल सिंह और दुकान मालिक संतोष कुमार आपस में मिले हुए थे. चौकी प्रभारी नेपाल सिंह ने उल्टा मनीष और नौकर इरफान पर केनरा बैंक के एटीएम से 500 और 600 चोरी का मामला और 16 जुलाई 2018 में चार अन्य फर्जी केस दर्ज कर दिया. चौकी प्रभारी ने बिना किसी जांच के रिपोर्ट को कोर्ट में दे दीया.बाद में एटीएम से चोरी का मामला सीसीटीवी फुटेज से झूठा साबित हो गया.

अगर एक रुपए का सिक्का लेने से दुकानदार करे इनकार तो खैर नहीं, यहां करें शिकायत

सीबीसीआईडी आगे के निर्देश के अनुसार पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने सभी आरोपी पुलिसकर्मियों पर कड़ी कार्यवाही करने का भरोसा दिया है. केस के दौरान कैफे मालिक मनीष मिश्र की पत्नी का सड़क हादसे में जान चला गया था. जिस पर मनीष ने उनकी हत्या शक जताया है.

कोरोना वैक्सीनेशन चौथा चरणः लखनऊ में 45 साल से ज्यादा उम्र के इतने लोगों को टीका

UP नंबर की एंबुलेंस से बढ़ सकती हैं मुख्तार अंसारी की मुसीबत, जानें मामला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें