उत्तर प्रदेश के सभी मदरसे होंगे ऑनलाइन, प्रक्रिया शुरू

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Nov 2020, 12:11 PM IST
  • राज्य सरकार ने अभियान चलाकर प्रदेश के सभी मदरसों को ऑनलाइन व्यवस्था से जोड़ने को कहा है. इसके लिए प्रदेश के सभी मदरसों व उनके छात्रावासों में रह रहे बच्चों का डाटा एकत्र किया जा रहा है.
यूपी में मदरसों को ऑनलाइन करने की प्रक्रिया शुरू

लखनऊ: समानता के आधार पर बच्चों को शिक्षा व अन्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए प्रदेश के सभी मदरसों को ऑनलाइन किया जाएगा. इसके लिए प्रदेश के सभी मदरसों व उनके छात्रावासों में रह रहे बच्चों का डाटा एकत्र किया जा रहा है. इसका मकसद है कि जैसे अन्य छात्रावासों के बच्चों को छात्रवृत्ति या अन्य सुविधाएं मिल रही हैं, वैसे ही मदरसों के बच्चों को भी मिलें. बच्चों के अधिकारियों का भी संरक्षण हो.

राज्य सरकार ने इसके लिए अभियान चलाकर प्रदेश के सभी मदरसों को ऑनलाइन व्यवस्था से जोड़ने को कहा है. राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ. विशेष गुप्ता के अनुसार सभी जिलों के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को इस काम में लगाया गया है.

यूपी: दीवाली पर चीनी और ज्यादा प्रदूषण वाले पटाखों की बिक्री पर लगेगी रोक

बता दें कि, प्रदेश के लगभग सभी जिलों में कई मदरसे हैं. कई बार इन मदरसों के बच्चे किसी वजह से वहां से भागकर जब शिकायत करते हैं. और संबंधित विभाग मदरसों के जिम्मेदारों से संपर्क करता है या फिर मामले की जांच करता है तो सामने आता है कि वह बच्चा अल्पसंख्यक कल्याण या किसी अन्य विभाग से संबद्ध नहीं है. इसे देखते हुए सरकार ने सभी मदरसों को ऑनलाइन कर उन्हें जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के दायरे में लाने का फैसला किया है.

लखनऊ सर्राफा बाजार में सोना उछला चांदी हुई फीकी, क्या है आज का मंडी भाव

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें