यूपी सरकार नाइट कर्फ्यू और सभी को कोरोना वैक्सीन लगाने पर करे विचार: हाईकोर्ट

Smart News Team, Last updated: 07/04/2021 06:56 AM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मंगलवार को राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने पर विचार करने के निर्देश दिए हैं. इसी के साथ हाईकोर्ट ने 45 साल की आयु सीमा हटाकर सभी को वैक्सीन लगाने पर विचार करने के लिए भी कहा है.
लखनऊ चारबाग रेलवे स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग भूलकर ट्रेन पकड़ने के लिए टूटे लोग.

लखनऊ. योगी सरकार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना के बढ़ते प्रसार के कारण नाइट कर्फ्यू लगाने पर विचार करने का निर्देश दिया है. हाईकोर्ट ने मास्क को सौ फीसदी अनिवार्य करने का भी निर्देश दिया है. मंगलवार को हाईकोर्ट ने कहा कि यूपी सरकार ने कोरोना की नई लहर के प्रसार को कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं लेकिन सरकारी निर्देशों का पालन ठीक से नहीं किया जा रहा है. कोर्ट ने यूपी के लोगों से कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करने की अपील भी की है.

यूपी के सभी जिलाधिकारियों को सरकारी निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के निर्देश भी हाईकोर्ट ने दिए हैं. हाईकोर्ट ने योगी सरकार से देर शाम के कार्यक्रमों में भीड़ को नियंत्रित करने के साथ नाइट कर्फ्यू लगाने पर विचार करने को कहा है. इसी के साथ अदालत ने मास्क और सेनेटाइजर की उपलब्धता पर बनाए रखने का निर्देश भी दिया है.  

यूपी कोरोना गाइडलाइन: अब शादी में सिर्फ इतने लोगों को परमिशन, इन जिलों पर फोकस

कोर्ट ने 45 साल की सीमा की बजाय सभी नागरिकों को वैक्सीनेशन और घर-घर जाकर कोरोना का टीका लगाने पर सरकार को विचार करने के लिए कहा है. कोर्ट ने साथ ही ये भी निर्देश दिया कि हाईस्कूल, इंटरमीडिएट छात्रों का कोरोना टेस्ट कराया जाए.

जिला प्रशासन और पुलिस से कहा गया कि कहीं भी भीड़ इकठ्ठा नहीं होने दी जाए. भीड़ को तुरंत हटाया जाए. वहीं पंचायत चुनावों के लिए नामांकन और प्रचार के दौरान भीड़ नहीं ले जाने दी जाए. 

चुनाव में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी की मौत होने पर 30 लाख देगी योगी सरकार 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें