UP सरकार को HC के आदेश- सीधे खरीदें कोरोना वैक्सीन, 4 महीने में निपटाएं टीकाकरण

Smart News Team, Last updated: 08/05/2021 09:17 AM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को तीसरी लहर आने से पहले तीन से चार महीनों में प्रदेश के सभी लोगों का टीकाकरण करने को कहा है. हाईकोर्ट ने आशंका जताई है कि कोरोना की तीसरी लहर का म्यूटेशन तेज होगा. तीसरी लहर के प्रभाव को कम करने के लिए वैक्सीनेशन होना बहुत जरूरी है.
इलाहाबाद हाई कोर्ट. (फाइल फोटो)

लखनऊ : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश की सरकार को कहा है कि आने वाले तीन से चार महीने में सभी प्रदेशवासियों का टीकाकरण कर लिया जाए. साथ ही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को कहा कि वैक्सीन खरीदने के लिए आप किसी भी तरह की लंबी प्रक्रिया जैसे टेंडर निकालने के बजाय आप वैक्सीन निर्माता कंपनी से वैक्सीन की डोज मंगवाए. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से आगे कहा कि प्रदेश में संक्रमण फैलने की दर में कुछ कमी जरूर आई है पर यह समय कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के लिए बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था तैयार करने का समय है.

देश सहित अपने प्रदेश में भी लगातार तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है. जिससे दूसरी लहर के चपेट में न आने वाले लोगों को तीसरी लहर तेजी से संक्रमित करेगा. इसलिए तीसरी लहर के संक्रमण फैलने की दर को कम करने के लिए लोगों का टीकाकरण करना बहुत जरूरी है. इसके लिए राज्य सरकार प्रदेश में जल्द से जल्द वैक्सीन मंगवाए और तीसरी लहर के आने से पहले अधिकतर लोगों का टीकाकरण करने का प्रयास करें. इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने टीकाकरण में तेजी लाने के लिए प्रदेश के 11 जिलों में 10 मई से 18 से 44 साल की उम्र वालों को टीका लगाने का निर्णय लिया है.

सरकारी कर्मचारियों के लिए CM योगी की घोषणा, वर्क फ्रॉम होम समेत दिए ये खास लाभ

यह शहर हैं सहारनपुर, आगरा, मुरादाबाद, झांसी, गाजियाबाद, अलीगढ़, फिरोजाबाद, मथुरा, अयोध्या, शाहजहांपुर और गौतमबुध नगर शामिल है. पूरे प्रदेश में अब तक कुल 17 शहर हो चुके हैं जहां 18 से 44 साल तक के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. प्रदेश में अब तक 18 से 44 साल के उम्र के 85566 लोगों को वैक्सीन लग चुका है.

ऑक्सीजन टैंकर खाली करना अफसरों के लिए बना मुसीबत! फिर ऐसे हुए अनलोड, जानें मामला

10 मई से आगरा, गाजियाबाद समेत 11 जिलों में 18+ में वैक्सीनेशन होगा शुरू: CM योगी

पंचायत चुनाव के बाद यूपी में हो रही राजनीतिक हिंसा, सरकार उठाए सख्त कदम- मायावती

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें