इलाहाबाद हाई कोर्ट का निर्देश संदिग्ध मौत को भी कोरोना से हुई मौत मानें

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 2:00 PM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस अजीत कुमार व जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा ने दायर एक जनहित याचिका में सुनवाई करते हुए कहा कि सभी सरकारी, राज्य सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में जो कोविड संदिग्ध मौतें हो रही हैं उनको भी कोरोना से हुई मौत माना जाए. साथ ही अंतिम संस्कार कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत ही हो.
इलाहाबाद हाई कोर्ट का नया निर्देश संदिग्ध मौत को भी कोरोना से हुई मौत मानें.(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ : इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई करते हुए जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजीत कुमार की खंडपीठ ने कहा कि संदिग्ध मौतों को भी कोरोना से हुई मौत माना जाना चाहिए. इन मौतों को सभी सरकारी, राज्य सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल कोरोना संक्रमण से मौत हुई आंकड़ों में जोड़ा दिया जाए. कोई भी अस्पताल बिना कोरोना रिपोर्ट के सर्दी जुखाम से पीड़ित मरीज को भर्ती करता है और उसका इलाज के दौरान मौत हो जाता है तो अस्पताल उसको कोविड मरीज ही समझे. अगर उसको कोई दूसरी गंभीर बीमारी न हो तो. साथ ही उसके अंतिम संस्कार में कोविड-19 के प्रोटोकॉल के नियम का ही पालन होना चाहिए.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यह सुनवाई कोरोना प्रबंधन को लेकर दायर एक जनहित याचिका के सुनवाई के दौरान कहा है. वही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से 19 अप्रैल से लेकर 2 मई तक के सभी मौत के आंकड़े न पेश किए जाने पर हाई कोर्ट सरकार से नाराज होते हुए कहा कि सभी जिले के नोडल अधिकारियों की रिपोर्ट के आंकड़े कुछ और बता रहे हैं. 

लखनऊ वालों को शराब के लिए करना होगा इंतजार, अभी नहीं खुलेंगी दुकाने, जानें वजह

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमित मरीज के 100 रुपए तक के खाने को तय करने पर आपत्ति जताई और कहा कि इतने कम खर्च में कोरोना संक्रमि मरीज को पौष्टिक आहार नहीं मिल सकता है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश के सभी जिलों में अगले 48 घंटों में 3 सदस्य पेंडेमिक पब्लिक ग्रीवेंस कमेटी गठित करने को कहा है. इस कमेटी के गठन के लिए मुख्य सचिव जल्द सभी जिलाधिकारियों को कमेटी गठन करने का निर्देश भी दे.

कोरोना से निपटने को लेकर UP सरकार से नाराज इलाहाबाद HC, कहा- कमेटी करो गठित

पंचायत चुनाव में कोरोना से मरे कर्मियों के परिवार को UP सरकार दे 1 करोड़: HC

कोरोना की वजह से स्थगित हुई UPTET 2020 की परीक्षा, जानिए नई तारीख

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें