HC ने अयोध्या में मस्जिद की जमीन पर दावा करने वाली दो बहनों की याचिका की खारिज

Smart News Team, Last updated: Mon, 8th Feb 2021, 3:18 PM IST
  • इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद की जमीन पर अपना दावा करने वाली दो बहनों की याचिका खारिज कर दी है. 
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मस्जिद की जमीन पर दावा करने से संबंधित याचिका खारिज कर दी.

 लखनऊ. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद की जमीन पर अपना दावा करने वाली दो बहनों की याचिका खारिज कर दी है. सोमवार को जस्टिस देवेंद्र कुमार उपाध्याय और जस्टिस मनीष कुमार की बेंच ने सुनवाई के बाद यह याचिका याचिका खारिज करने का आदेश दिया. सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील एच जी एस परिहार ने ही कोर्ट से याचिका वापस लेने का अनुरोध किया.

कोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की तरफ से पेश हुए अपर महाधिवक्ता रमेश कुमार सिंह ने याचिका का विरोध किया. उन्होंने कहा कि धन्नीपुर में मस्जिद के लिए आवंटित जमीन के गाटा नंबर याचिका में दाखिल नंबरो से अलग हैं, लिहाजा याचिका गलत तथ्यों पर आधारित है और खारिज होने योग्य है. इस पर याचिकाकर्ता के वकील ने अपनी गलती स्वीकारते हुए याचिका वापस लेने का अनुरोध किया. इस पर जस्टिस देवेंद्र कुमार उपाध्याय और जस्टिस मनीष कुमार की बेंच ने याचिका खारिज का आदेश पारित किया.

बाइक पर पुलिस का लोगो लगा करते थे चोरी, उड़ाया लाखों का सामान

बता दें कि दिल्ली निवासी दो बहनों रानी कपूर पंजाबी और रमा रानी पंजाबी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अयोध्या के धन्नीपुर गांव में बनने वाली मस्जिद की पांच एकड़ जमीन को अपना बताया था. हाईकोर्ट में अयोध्या के जिला प्रशासन ने बताया कि दोनों बहनों ने जिस जमीन पर अपना दावा किया है, वो धन्नीपुर नहीं बल्कि जिले के शेरपुर जाफर गांव की जमीन है.

16 फरवरी को PM मोदी महाराज सुहेलदेव स्मारक का करेंगे वर्चुअल शिलान्यास

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें