यूपी चुनाव अकेले लड़ेगी केजरीवाल की AAP, अखिलेश की सपा से गठबंधन पर नहीं बनी बात

Swati Gautam, Last updated: Tue, 14th Dec 2021, 6:08 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में आम आदमी पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर खबर आ रही है कि आदमी पार्टी ने अपने दम पर ही यूपी चुनाव में उतरने का फैसला लिया है. सीट के बटवारे को लेकर दोनों पार्टियों के बीच बात नहीं बन पाई.
यूपी चुनाव में अकेले एंट्री लेगी AAP

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में आम आदमी पार्टी और समाजवादी पार्टी में गठबंधन की अटकलों पर अब विराम लगता दिख रहा है. खबरों के अनुसार आम आदमी पार्टी ने अपने दम पर ही यूपी चुनाव में उतरने का फैसला लिया है. कुछ समय पहले आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की थी जिसके बाद से यह सस्पेंस बना हुआ था कि आम आदमी पार्टी सपा एक साथ गठबंधन करने की प्लानिंग कर रही है लेकिन अब यह साफ होता दिख रहा है कि आप अकेले ही चुनावी मैदान में एंट्री लेगी. आईएएनएस की खबर के मुताबिक आप की राज्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा है कि 'आप' अब राज्य की सभी सीटों पर उतरने की तैयारी कर रही है.

आम आदमी पार्टी के यूपी चुनावों में अकेले उतरने के फैसले के पीछे का कारण सपा से सीटों पर हुई बातचीत बताया जा रहा है. दरअसल खबरों की मानें तो समाजवादी पार्टी सीटों को लेकर समझौते पर ज्यादा झुकने को तैयार नहीं थी, जबकि आप की डिमांड ज्यादा सीटों की थी. बात नहीं बनी तो आप ने अकेले ही चुनावी मैदान में एंट्री करने का फैसला ले लिया. इतना ही नहीं वैभव माहेश्वरी ने कहा कि हम अगले एक सप्ताह में 100 सीटों पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर देंगे. इसके कुछ दिन बाद ही नई लिस्ट जारी होगी.

अखिलेश यादव का ऐलान, यूपी में सपा सरकार 3 महीने के अंदर कराएगी जातीय जनगणना

आप की राज्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने आगे बताया कि पार्टी द्वारा दिसंबर के अंत तक कम से कम 350-400 उम्मीदवारों के नामों का औपचारिक ऐलान दिया जा सकता है. उनके इस बयान के बाद से दोनों दलों के बीच गठबंधन की खबरें झूठी साबित होती दिखाई दे रही हैं. बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इससे पहले उत्तर प्रदेश का दौरा कर चुके हैं. इन दोनों के अलावा भी दिल्ली के कई मंत्री उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए सक्रिय हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें