लखनऊ: मकान हथियाने के लिए बेटे ने गला रेतकर पिता को मौत के घाट उतारा, अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 11:23 AM IST
  • लखनऊ के तालकटोरा में वृद्ध ज्ञानी यादव हत्या मामले में पुलिस ने बेटे सागर राम को गिरफ्तार किया है. संपत्ति विवाद में बेटे ने पिता की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी थी. 
लखनऊ के तालकटोरा में पिता के मकान को हथियाने के लिए बेटे ने हत्या की.

लखनऊ. लखनऊ के तालकटोरा पुलिस ने ज्ञानी यादव की हत्या करने के आरोप में उन्हीं के बेटे सागर राम को अरेस्ट किया है. मामला संपत्ति के विवाद में हत्या तक पहुंचा था. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है.

एसीपी बाजारखाला अनूप सिंह ने बताया कि ज्ञानी यादव का एक घर अमेठी के गौरीगंज में भी है. सागर राम पिता का मकान हथियाने और बेचना चाहता था. सागर राम मकान हथियाने के पिता से मारपीट और ताने मारकर उन्हें परेशान करता था. सागर राम ने कई लोगों से रुपया उधार ले रखा था. जिसे चुकाने के लिए वह पिता का मकान हथियाना चाहता था. इन्ही सब हरकतों से परेशान होकन ज्ञानी यादव ने मकान अपने पोते के नाम कर दिया था.  

छेड़छाड़ का विरोध करने पर सैनिक की पत्नी और उसके भाई की दबंगों ने की जमकर पिटाई

8 अक्टूबर को नशे में धुत सागर राम ने अपने दिव्यांग पिता की गला रेत कर हत्या कर दी थी. पुलिस को चकमा देने के लिए आरोपी ने सागर गुप्ता से रुपयों का विवाद होने की झूठी कहानी रची थी और पिता की हत्या का मुदकमा दर्ज कराया था.  

69000 शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का उल्लंघन, जाएंगे SC: OBC उम्मीदवार

पुलिस के अनुसार सागर राम ने अपने पिता को इलाज के बहाने झोपड़ी में रख दिया था. ज्ञानी यादव को चर्म रोग था जिसके कारण वह चल-फिर नहीं पाते थे. वह उन्हें वहीं खाना देता था और अपने परिवार के साथ अलग किराए के मकान में रहता था.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें