अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए बिहार से मिला योगदान, महावीर मंदिर ने दी सबसे ज्यादा राशि

Anurag Gupta1, Last updated: Sun, 12th Dec 2021, 12:06 PM IST
  • अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए महावीर मंदिर पटना से मिल रहा योगदान. 
  • 2019 में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आचार्य किशोर कुणाल ने 10 करोड़ का योगदान देने की घोषणा की थी. 
  • महावीर मंदिर की ओर से अयोध्या मंदिर परिसर में चल रहा निशुल्क भोजनालय.
अयोध्या राम मंदिर (फाइल फोटो)

लखनऊ. अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण तेजी से चल रहा है. राम भक्त भी काफी उत्सुक है रामलला जल्द ही मंदिर में विराजमान होंगे. इसके लिए हर कोई अपना बढ़ चढ़ कर योगदान दे रहा है. ऐसे में श्रीराम जन्मभूमि पर रामलला का विराट मंदिर निर्माण में पटना का बड़ा योगदान रहेगा. मंदिर निर्माण के लिए पटना के महावीर मंदिर न्यास समिति ने शनिवार को दो करोड़ रूपए की दूसरी किस्त भेज दी है.

महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सचिव चंपत राय को दो करोड़ रुपये का चेक सौंपा. इस दौरान तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी डा. अनिल मिश्रा और धनुषवीर सिंह भी वहां मौजूद रहे. बता दें पिछले साल दो अप्रैल को महावीर मंदिर समिति की ओर से दो करोड़ की एक किस्त भेंट की गई थी. दोनों राशि मिलाकर अब तक कुल चार करोड़ रूपए दिए जा चुके हैं.

CM योगी ने किया फ्री राशन महाअभियान का शुभारंभ बोले, डबल इंजन की सरकार की वजह से संभव

कितना कहां से आया:

महावीर मंदिर न्यास ने दो करोड़ दिए.

आचार्य किशोर कुणाल ने दो करोड़ रुपये का चेक.

पटना के महावीर मंदिर की ओर से कुल दस करोड़ दिए जाएंगे.

निर्माण शुरू होते ही मिलने लगा योगदान:

साल 2019 नौ नवंबर को अयोध्या की विवादित जमीन पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया. जिसके बाद मंदरि निर्माण के लिए आचार्य किशोर कुणाल ने 10 करोड़ रुपये की सहयोग राशि देने की घोषणा की थी. जिसमें से चार करोड़ की राशि सौंपी जा चुकी है. आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि जो करोड़ देने की घोषणा की वो मंदिर निर्माण पूरा होने तक की पूरी कर दी जाएगी.

महावीर मंदिर की तरफ से अयोध्या में चलती है निशुल्क रसोई:

मंदिर निर्माण के शुरू होने के बाद से हर जगह है सहयोग राशि आ रही है. महावीर मंदिर पटना ने सहयोग करने के लिए अयोध्या में राम रसोई का संचालन किया है यहां पर श्रद्धालु निशुल्क भोजन ग्रहण कर सकते हैं. मंदिर परिसर में चल रही राम रसोई में रोजाना प्रतिदिन लगभग दो हजार लोग खाना खाते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें