राम कथा पर शोध करने के लिए देश-विदेश से आएंगे शोधार्थी, मिलेंगी खास सुविधाएं

Sumit Rajak, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 8:16 AM IST
  • राम नगरी में बहुत जल्द अयोध्या शोध संस्थान को चार मंजिला नया सुसज्जित भवन मिलने जा रहा है. संसाधन के इस नए भवन में अयोध्या आकर राम कथा से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर शोध व सर्वेक्षण करने वाले देश विदेश के शोधार्थियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया होगी. ग्लोबल रामलीला फेस्टिवल वर्चुअल 15 देश की रामलीला मंडली यह प्रदर्शन करेगी.मुखौटें में राम-रामकथा के प्रदर्शन में मुखोटों के प्रयोग पर प्रदर्शन व सेमिनार होगा.
फाइल फोटो

लखनऊ. राम नगरी में बहुत जल्द अयोध्या शोध संस्थान को चार मंजिला नया सुसज्जित भवन मिलने जा रहा है. संसाधन के इस नए भवन में अयोध्या आकर राम कथा से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर शोध व सर्वेक्षण करने वाले देश विदेश के शोधार्थियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया होगी.अयोध्या के तुलसी स्मारक दो में स्थित इस भवन में पुस्तकालय वाचनालय अत्याधुनिक तकनीक के साथ ऑडिटोरियम भी होगा. यह जानकारी अयोध्या शोध संस्थान के निर्देशक डॉ. लवकुश द्विवेदी ने दी है. उन्होंने बताया कि इस योजना पर 17 करोड़ की लागत आ रही है.

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ड्रीम प्रोजेक्ट रामायण एनसाइक्लोपीडिया के पूर्वालोकन का पहला अंक आने के बाद अब इसके दूसरे अंक के प्रकाशन की तैयारी चल रही है. इस विश्व महाकोष का काम अब और तेजी से बढ़ाया जाएगा. अगर स्थितियां अनुकूल रहीं तो आगामी चैत्र माह में राम नवमी के अवसर पर तीन चार देशों की रामलीला मंडलियों को आमंत्रित करके उनके मंचन वहां करवाए जाएंगे.

फैंस को धोखा देने और पैसा हड़पने के मामले में सपना चौधरी के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी

अयोध्या शोध संस्थान की अन्य प्रमुख गतिविधिया

ग्लोबल रामलीला फेस्टिवल वर्चुअल 15 देश की रामलीला मंडली यह प्रदर्शन करेगी.मुखौटें में राम-रामकथा के प्रदर्शन में मुखोटों के प्रयोग पर प्रदर्शन व सेमिनार होगा. अयोध्या पर लोक में राम संस्कृति, भारतीय भाषाओं में राम तीन पुस्तकें प्रकाशित.

साकेत पुरी में पंचकोशी मार्ग तक लिंक मार्ग बनेगा

अयोध्या में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए साकेतपुरी आवास योजना से पंचकोशी परिक्रमा मार्ग तक विकास प्राधिकरण मिसिंग लिंक का निर्माण कराएगा. यह एक तरह से संपर्क मार्ग होगा जो परिक्रमा मार्ग को जोड़ेगा. आवास विभाग ने बुधवार को इसके लिए पहली किस्त का एक करो रुपया दे दिया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें