बाबरी विध्वंस केस: मुस्लिम पक्ष कोर्ट फैसले पर नाखुश, हाई कोर्ट में करेंगे अपील

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Sep 2020, 1:50 PM IST
  • बाबरी विध्वंस केस में सीबीआई कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम पक्ष ने अपना विरोध जाहिर किया. उन्होंने कहा ये फैसला कानून और हाईकोर्ट दोनों के खिलाफ है. विध्वंस मामले में जो मुस्लिम पक्ष के लोग रहे हैं उनकी तरफ से हाईकोर्ट में अपील की जाएगी.
.बाबरी विध्वंस केस: मुस्लिम पक्ष कोर्ट फैसले के खिलाफ, हाई कोर्ट में करेंगे अपील

लखनऊ. बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. बुधवार को दिए फैसले में सीबीआई कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है. इस मामले पर मुस्लिम पक्ष ने कहा है कि वो फैसले के खिलाफ हैं. उन्होंने कहा, ये फैसला कानून और हाईकोर्ट दोनों के खिलाफ है. विध्वंस मामले में जो मुस्लिम पक्ष के लोग रहे हैं उनकी तरफ से हाईकोर्ट में अपील की जाएगी.

मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब गिलानी ने कहा, कि वो हाई कोर्ट में अपील करेंगे. सीबीआई कोर्ट का फैसला 2300 पेज का है. इस फैसले में सीबीआई कोर्ट ने कहा कि बाबरी विध्वंस पूर्व नियोजित नहीं था. इस घटना को आकस्मिक बताया है. कहा गया कि 12 बजे विवादित ढांचा के पीछे से पथराव शुरू हुआ. अशोक सिंघल ढांचे को सुरक्षित रखना चाहते थे क्योंकि ढांचे में मूर्तियां थीं. उन्होंने सभी आरोपी को बरी किया. 

बाबरी विध्वंस केस में फैसला, लालकृष्ण आडवाणी, जोशी समेत सभी आरोपी बरी

सीबीआई अधिवक्ता ललित सिंह ने बताया कि जजमेंट की प्रति मिलने के बाद सीबीआई हेडक्वार्टर भेजा जाएगा. जिसके बाद लॉ सेक्शन उसका अध्ययन करने के बाद जो परामर्श देगा, उसी अनुसार अपील करने का निर्णय लिया जाएगा. वहीं आरोपियों ने फैसले को ऐतिहासिक बताया और अपनी खुशी जाहिर की.

पूर्व नियोजित नहीं था बाबरी विध्वंस, आकस्मिक थी घटना, सभी आरोपी बरी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें