बाबरी विध्वंस केस में फैसला, लालकृष्ण आडवाणी, जोशी समेत सभी आरोपी बरी

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Sep 2020, 12:42 PM IST
  • आज सीबीआई की विशेष अदालत ने बाबरी विध्वंस केस में फैसला सुना दिया. इस मामले में को बरी कर दिया गया.
बाबरी मस्जिद विध्वंस केस पर CBI कोर्ट का फैसला आज, जानें क्या है पूरा मामला

लखनऊ. बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला सुना दिया है. इस मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया है. बता दें इसमें कुल 32 लोग आरोपी थे. जिनमें से 17 लोगों की मौत हो चुकी है.  इन सभी पर 28 सालों से मुकदमा चल रहा था. 

अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस केस में 32 आरोपियों में से पांच आरोपी सीबीआई कोर्ट में नहीं पहुंचे थे. इनमें लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, नृत्यगोपाल दास, कल्याण सिंह, उमा भारती और सतीश प्रधान शामिल रहे. इन्होंने वीडियो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीबीआई कोर्ट का फैसला सुना.

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस पर CBI कोर्ट का फैसला आज, जानें क्या है पूरा मामला

वहीं, 27 आरोपी सीबीआई कोर्ट में पहुंचे. इनमें विनय कटियार, साघ्वी ऋतंभरा, डा. राम विलास वेदांती, चंपत राय, महंत धर्मदास, सतीश प्रधान, पवन कुमार पांडेय, लल्लू सिंह, प्रकाश शर्मा, विजय बहादुर सिंह, संतोष दूबे, गांधी यादव, रामजी गुप्ता, ब्रज भूषण शरण सिंह, कमलेश त्रिपाठी, रामचंद्र खत्री, जय भगवान गोयल, ओम प्रकाश पांडेय, अमर नाथ गोयल, जयभान सिंह पवैया, महाराज स्वामी साक्षी, विनय कुमार राय, नवीन भाई शुक्ला, आरएन श्रीवास्तव, आचार्य धमेंद्र देव, सुधीर कुमार कक्कड़ व धर्मेंद्र सिंह गुर्जर हैं.

बाबरी विध्वंस केस की सुनवाई के दौरान कैसरबाग बस अड्डे से रुका बसों का संचालन

इस केस में सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 120 बी, 147, 149, 153ए, 153बी और 505 (1) के तहत मुकदमा चल रहा था. मामले में कुल 49 में से 32 अभियुक्तों के मुकदमे की सुनवाई आज हुई है. अब तक इस मामले में 17 अभियुक्तों की मौत हो चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें