बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुश्किलें, एक मामले में जमानतदारों ने वापस ली जमानत

Shubham Bajpai, Last updated: Tue, 14th Sep 2021, 8:57 AM IST
  • पूर्वांचल के माफिया व बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की मुश्किल कम होती नजर नहीं आ रही है. अब गाजीपुर में दर्ज एक मामले में उनकी जमानत लेने वाले दो जमानतदारों ने कोर्ट में अर्जी दाखिल कर अंसारी की जमानत वापस ले ली है.
बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की बढ़ी मुश्किलें

लखनऊ. पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी इन दिनों बांदा जेल में बंद हैं. अंसारी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है. पहले जिस पार्टी से वो विधायक हैं, उस बसपा ने इस विधानसभा चुनाव में उनकी टिकट काट दी. जिसके बाद अब गाजीपुर में दर्ज एक मामले में अंसारी की जमानत लेने वाले दो सगे भाइयों मोहम्मद अकबर और मोहम्मद अकमल ने जमानत वापल ले ली. इसके लिए उन्होंने कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी, जिसे कोर्ट ने मंजूरी दे दी है. अब इस मामले में अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी.

गाजीपुर में 2009 दर्ज हुआ था एक हमले में मामला

मुख्तार अंसारी के खिलाफ 2009 में आईपीसी की धारा 307, 506 और 120 बी धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसमें प्रयागराज के दो सगे भाइयों मोहम्मद अकबर और मोहम्मद अकमल ने मुख्तार अंसारी की जमानत ली थी. जिसके बाद 2010 में अंसारी को जमानत मिल गई थी.

थाने में शिकायत लिखवाने आई युवती के वाट्सएप नंबर पर सिपाही करने लगा मैसेज, स्क्रीनशॉट वायरल, जांच शुरू

निजी कारण बताकर वापस ली जमानत

दोनों भाइयों मोहम्मद अकबर और मोहम्मद अकमल ने एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट के जज आलोक कुमार श्रीवास्तव की कोर्ट में जमानत रद्द करने की याचिका दाखिल की थी. जिसमें उन्होंने निजी कारणों से शहर के बाहर जाने के कारण जमानत रद्द करने की याचिका दाखिल की थी, जिसे मंजूरी देने के साथ जज ने जमानत रद्द कर दी है. जमानत रद्द होने के बाद मुख्तार की मुश्किल बढ़ सकती है.

केशव मौर्या बोले- राहुल, अखिलेश 2014 से पहले मंदिर दर्शन का प्रमाण दें, प्रियंका फोटो वाली नेता

बसपा से कट चुकी है टिकट

इससे पहले बसपा ने मऊ से उनकी टिकट काटकर बसपा के प्रदेशाध्यक्ष राजभर को दे दी है. इसकी जानकारी बसपा सुप्रीमो मायावती ने खुद ट्वीट करके दी. उसके बाद अब जमानत रद्द होने के बाद अब जेल से निकलने की राह उनकी और मुश्किल हो जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें