एक्शन मोड में मायावती, 2 फरवरी से करेंगी प्रचार का आगाज,आगरा में होगी पहली जनसभा

Ruchi Sharma, Last updated: Tue, 25th Jan 2022, 3:04 PM IST
  • बसपा सुप्रीमो मायावती आगरा में अगले महीने की 2 तारीख को पहली जनसभा को संबोधित करेंगी. इस दौरान कोरोना के नियमों के पालन भी किया जाएगा. बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी.
बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती (तस्वीर-साभार सोशल मीडिया )

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों ने पूरा दम खम लगा दिया है. चुनाव प्रचार में कोई भी पार्टी पीछे नहीं रहना चाहती. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश चुनाव की तारीख की घोषणा के बाद बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती अब पूरी तरह से चुनावी मोड में नजर आ रही हैं. मायावती भी आखिरकार चुनाव प्रचार अभियान का आगाज करने जा रही हैं. बसपा सुप्रीमो मायावती आगरा में अगले महीने की 2 तारीख को पहली जनसभा को संबोधित करेंगी. इस दौरान कोरोना के नियमों के पालन भी किया जाएगा.

सतीश चंद्र ने दी जानकारी

बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी. उन्होंने जानकारी देते हुए लिखा कि ''अवगत कराना है कि दिनांक 2 फरवरी 2022 को बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री माननीया बहन कु. मायावती जी आगरा में कोविड नियमों का पालन करते हुए जनसभा को संबोधित करेंगी. जनसभा का समय, स्थान और आगामी जनसभाओं की सूचना मीडिया बंधुओं को शीघ्र उपलब्ध कराई जाएगी.'

 

एक्शन मोड में नजर आई मायावती

जानकारी हो कि कोरोना वायरस के चलते फिलहाल चुनाव आयोग ने 31 जनवरी तक चुनावी रैलियों पर रोक लगाई हुई है. उत्तर प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रहीं मायावती ने इस बार विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार का आगाज नहीं किया है. चुनाव तारीखों के ऐलान से पहले वो साइलेंट मोड में रही, लेकिन वहीं अब एक्शन मोड में नजर आ रही है. लगातार विपक्ष पर हमलावर हो रही हैं.

मायावती ने किया ट्वीट

कुछ घंटे पहले मायावती ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'बीएसपी को छोड़ सभी पार्टियों की सरकारें राजनीति के अपराधीकरण व अपराध के राजनीतिकरण, कानून के साथ खिलवाड़ तथा अपनी पार्टी के गुण्डों व माफियाओं को संरक्षण आदि से यूपी को जंगलराज में ढकेल इसे गरीब व पिछड़ा बनाए रखकर जनता को त्रस्त करने की दोषी है, किन्तु इनकी जुमलेबाजी जारी'.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें