कोरोना के चलते नौकरी जाने वालों को बड़ी राहत, 2022 तक मिलेगा इस योजना का लाभ

Smart News Team, Last updated: Sun, 22nd Aug 2021, 9:31 AM IST
  • कोरोना काल में केंद्र सरकार ने कर्मचारियों की ईपीएफओ राशि जून 2021 तक भरने की घोषणा की थी, लेकिन अब लोगों को राहत देते हुए सरकार ने इस योजना को 2022 तक बढ़ा दिया. लखनऊ में मिशन शक्ति के तीसरे चरण के शुभारंभ कार्यक्रम में पहुंची वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सभी पात्र को इस योजना का लाभ मिलेगा. 
नौकरी खोने वालों का 2022 तक पीएफ केंद्र सरकार भरेगी.

लखनऊ. कोरोना काल में अपनी नौकरी गवां चुके लोगों को केंद्र सरकार की ओर से बड़ी राहत मिली है. अब केंद्र सरकार ऐसे कर्मचारियों की ईपीएफ की पूरी धनराशि 2022 तक जमा करेगी. यह जानकारी लखनऊ में मिशन शक्ति के तीसरे तरण के शुभारंभ मे पहुंची केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी. उन्होंने कहा कि इस योजना का लाभ उन कंपनियों के कर्मचारियों को मिलेगा जो ईपीएफओ में पंजीकृत हैं. इस दौरान कार्यक्रम में वित्त मंत्री ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की. उन्होने कहा कि योगी की ऊर्जा देख कह सकती हूं कि प्रदेश जिस स्पीड से आगे बढ़ रहा है उससे प्रदेश का फ्यूचर ब्राइट है. इस मौके पर सीएम योगी और प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल समेत कई मंत्री व अधिकारी मौजूद रहे.

सरकार ने योजना की अवधि 2021 से बढ़ाकर 2022 तक कर दी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोरोना के चलते सरकार ने इस योजना की शुरुआत अक्टूबर 2020 में की थी. सरकार ने पहले इस योजना की अवधि जून 2021 तक रखी थी, लेकिन आमजन को राहत देने के लिए इस योजना की अवधि केंद्र सरकार ने 2022 तक बढ़ा दी. अब इस योजना का लाभ सभी पात्र कर्मचारियों को 2022 तक मिलेगा. 

रेल यात्रियों को सुविधा! MP-राजस्थान समेत 26 रूटों पर 32 से अधिक ट्रेनें पटरी पर लौटी

ये हैं योजना के पात्र

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इस योजना का लाभ उन कर्मचारियों को मिलेगा जिनकी कंपनी ईपीएफओ में पंजीकृत हो. साथ ही उनकी सैलरी 15 हजार रुपए प्रति महीना होनी चाहिए. वो इस योजना के लाभार्थी होंगे. वहीं, यदि कंपनी किसी कर्मचारी को निकाल गई पोस्ट में अन्य कर्मचारी की तैनाती करती है तो उसे भी इस योजना का लाभ मिलेगा. योजना में केंद्र सरकार ईपीएफ में कर्मचारी और नियोक्ता दोनों का अंशदान अपने पास से देगी.

सरकार की नीतियों के चलते कोरोना के बाद अर्थव्यव्यस्था में हुआ सुधार

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कोरोना की वजह से देश ही नहीं विश्व की अर्थव्यवस्था में बदलाव आए, लेकिन सरकार की नीतियों के कारण ही भारत की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार हुए. वहीं, सरकार की ईपीएफओ की योजनाओं से आमजन को काफी फायदा होगा.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें