Up Panchayat Election: गांव-गांव चौपाल कर रही है बीजेपी, जानिए क्या है खास

Smart News Team, Last updated: Sat, 13th Mar 2021, 3:59 PM IST
  • भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सहित भाजपा के अन्य नेता गांवों के दौरे पर हैं. और साथ ही चौपाल लगाकर केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां बता रहें हैं. दूर दराज के गावों में पहुंचकर लोगों से जनसंपर्क किया जा रहा है. और सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानता को बता रहें हैं.
Up Panchayat Election: गांव-गांव चौपाल कर रही है बीजेपी, जानिए क्या है खास

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आगामी पंचायत चुनाव के मद्देनजर तैयारियां तेज हो गईं हैं. प्रत्याशी अपने-अपने वादों से वोटरों को लुभाने में लगे हैं. इसी क्रम में भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सहित भाजपा के अन्य नेता गांवों के दौरे पर हैं. और साथ ही चौपाल लगाकर केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां बता रहें हैं. दूर दराज के गावों में पहुंचकर लोगों से जनसंपर्क किया जा रहा है. और सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानता को बता रहें हैं.

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने संभाला मोर्चा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने इस कार्यक्रम की शुरुआत लखनऊ के गंगागंज से की थी. बीते कल यानी शुक्रवार को वह लखीमपुर के भीरा गांव में आयोजित चौपाल में शामिल हुए. 13 मार्च शनिवार को सीतापुर जिले के गांव गोलोकोडर रेऊसा में ग्राम चौपाल के माध्यम से गांव वालों से संवाद करेंगे. 18 मार्च तक भाजपा के बड़े नेता राज्य के सभी 58 हजार गांवों में चौपाल कर लेंगे. इतने जल्दी चौपाल कार्यक्रम को खत्म करने के लिए प्रत्येक जिले के अधिक से अधिक गांव में चौपाल का आयोजन किया जा रहा है.

बीईओ की भर्ती परीक्षा में टॉप करने वाले अभ्यार्थी का बड़ा फर्जीवाड़ा, FIR दर्ज

ग्रामीण चौपाल में लोगों की भीड़ देखकर भाजपा नेता बहुत खुश हो रहें हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेता मोदी सरकार व योगी सरकार की योजनाओं के साथ पार्टी की अन्त्योदय विचारधारा को लेकर गांवों में भ्रमण कर रहे हैं. पार्टी पदाधिकारी, केन्द्र व प्रदेश सरकार के मंत्री, विधायक, सांसद, आयोगों व निगमों अध्यक्ष व सदस्य सहित . शनिवार 13 मार्च को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कुशीनगर जिले में तथा कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही देवरिया जिले में ग्राम चौपाल में शामिल होकर लोगों से संवाद करेंगे. और लोगों के बीच केंद्र और राज्य सरकार की नीतियां और कार्यों का ब्योरा देंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें