किसान महापंचायत में बोले राकेश टिकैत, BJP और ओवैसी के बीच चाचा-भतीजे का रिश्ता

Swati Gautam, Last updated: Mon, 22nd Nov 2021, 1:59 PM IST
  • भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत किसान महापंचायत में शिरकत करने लखनऊ पहुंचे हैं जहां टिकैत असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते नजर आए. उन्होंने कहा कि ओवैसी और भाजपा का रिश्ता चाचा-भतीजे जैसा है. ओवैसी को सीएए और एनआरसी कानून रद्द करने के लिए टीवी पर बात नहीं करनी चाहिए बल्कि भाजपा से सीधे बात करनी चाहिए.
किसान महापंचायत में बोले राकेश टिकैत, BJP और ओवैसी के बीच चाचा-भतीजे का रिश्ता

लखनऊ. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत किसान महापंचायत में शिरकत करने लखनऊ पहुंचे हैं. लखनऊ के ईको गार्डन में संयुक्त किसान मोर्चा की महापंचायत शुरू हो चुकी है जिसमें राकेश सिंह टिकैत समेत जोगेन्दर सिंह उग्राहा, किसान संघर्ष समिति के महासचिव आशीष मित्तल, दर्शन पल सिंह, योगेंद्र यादव समेत कई बड़े नेता मंच पर मौजूद दिखे. इस महापंचायत में राकेश टिकैत ने एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि ओवैसी और बीजेपी चाचा-भतीजे जैसी है.

बता दें कि राकेश टिकैत इससे पहले भी असदुद्दीन ओवैसी पर कई बार निशाना साधते हुए दिखे हैं. इस बार लखनऊ में हो रही किसानों की महापंचायत के दौरान जब राकेश टिकैत से असदुद्दीन ओवैसी की मांग को लेकर सवाल पूछा गया जिसमें ओवैसी ने तीनों कृषि कानूनों की ही तर्ज पर सीएए को भी वापस लेने की मांग की थी उस पर राकेश टिकैत सीधे-सीधे बोलने से बचते नजर आए. टिकैत ने कहा कि ओवैसी और भाजपा का रिश्ता चाचा-भतीजे जैसा है. ओवैसी को सीएए और एनआरसी कानून रद्द करने के लिए टीवी पर बात नहीं करनी चाहिए बल्कि भाजपा से सीधे बात करनी चाहिए.

संयुक्त किसान मोर्चा ने PM मोदी को लिखा खुला पत्र, MSP सहित इन छह मांगों पर हो चर्चा, जानिए

बता दें कि रविवार को यूपी के बाराबंकी में एक रैली को संबोधित करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कृषि कानून की तरह सरकार सीएए-एनआरसी को वापस लें. उन्होंने आगे कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो बारबांकी को शाहीन बाग बना देंगे. इसी का पलटवार करते हुए महापंचायत में राकेश टिकैत ने बयान दिया है. वहीं दूसरी और संयुक्त किसान मोर्चा के डॉ दर्शनपाल सिंह ने भी महापंचायत में कहा है कि 2022 में भाजपा को सबक सिखाओ. जो बंगाल में ताकत दिखाई वो यूपी में भी दिखाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें