यूपी में डेंगू- वायरल बुखार से हुई मौतों पर मायावती ने जताई चिंता, बोलीं- ध्यान दे योगी सरकार

Somya Sri, Last updated: Thu, 9th Sep 2021, 12:24 PM IST
  • प्रदेश में डेंगू और वायरल बीमारियों से हो रही मौतों को लेकर बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने प्रदेश के योगी सरकार को इस ओर ध्यान देने के लिए आग्रह किया है. 
बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल बीमारियों से हो रही मौतों को लेकर बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने प्रदेश के योगी सरकार को इस ओर ध्यान देने के लिए आग्रह किया है. मायावती ने ट्वीट कर लिखा कि," यूपी में कोरोना महामारी के बीच डेंगू व अन्य रहस्यमयी बुखार आदि का प्रकोप भी यहाँ बड़ी तेजी से लगभग पूरे प्रदेश को अब अपने चपेट में ले रहा है लेकिन सरकारी अस्पतालों में उचित व्यवस्था के अभाव में इनके मरीज़ों की काफी मौतें भी हो रही हैं, जो अति-चिन्तनीय. सरकार इस ओर जरूर ध्यान दे."

मालूम हो कि फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल बुखार से अब तक 55 लोगों की जान चली गई है. पिछले हफ्ते फिरोजाबाद के तीन डॉक्टरों की लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया गया था. वहीं हाल ही में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में डेंगू और वायरल बीमारियों से हो रही मौतों को लेकर एक बैठक की थी. जिसमें उन्होंने डेंगू और वायरल फीवर की रोकथाम के लिए जरूरी इंतजाम के आदेश दिए थे.

यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने 7 सितंबर को अधिकारियों को निर्देश दिया था कि यूपी के फीरोजाबाद और आसपास के जिलों में डेंगू और वायरल फीवर की रोकथाम के लिए सभी जरूरी इंतजाम किया जाए. सीएम ने मंगलवार को एक उच्‍च स्‍तरीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों से कहा था कि यूपी में डेंगू और वायरल फीवर का खतरा बढ़ता दिख रहा है ऐसे में बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक इंतजाम को करना बेहद जरूरी है इस पर विशेष ध्यान दिया जाए.

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य का इस्तीफा, यूपी से चुनाव लड़ने की अटकलें

उन्होंने कहा था कि शिकोहाबाद में 100 बिस्तरों वाला अस्पताल तैयार हो गया है, यह आसपास के लोगों के लिए उपयोगी होगा और अस्पतालों में अतिरिक्त बेड, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, दवाइयां, जांच उपकरण आदि की व्यवस्था की गई है. मालूम हो कि सीएम ने स्थिति का जायजा लेने के लिए 30 अगस्त को फिरोजाबाद का दौरा किया था.उन्होंने कहा कि ओपीडी में अनावश्यक भीड़ से बचना रोगियों के परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य अपडेट दिया जाना चाहिए और सीएम हेल्पलाइन भी उन तक पहुंचनी चाहिए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें