कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के भारत बंद का BSP चीफ मायावती ने किया समर्थन

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Dec 2020, 12:55 PM IST
  • किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए 8 दिसंबर के भारत बंद का बसपा सुप्रीमो मायावती ने समर्थन किया हैं. मायावती ने केंद्र सरकार से किसानों की मांगों को मानने की अपील भी की है.
बसपा सुप्रीमो मायावती ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया.

लखनऊ. तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए 8 दिसंबर के भारत बंद का बसपा सुप्रीमो मायावती ने समर्थन किया हैं. मायावती ने एक बार केंद्र की मोदी सरकार से तीन किसान कानूनों पर विचार करने की नसीहत दी हैं. मायावती ने केंद्र सरकार से किसानों की मांगों को मानने की अपील भी की है. 

मायवाती ने सोमवार सुबह ट्वीट कर कहा कि कृषि से सम्बंधित तीन नए कानूनों की वापसी को लेकर पूरे देश भर में किसान आन्दोलित हैं व उनके संगठनों ने दिनांक 8 दिसम्बर को ’’भारत बंद’’ का जो एलान किया है, बी.एस.पी उसका समर्थन करती है. साथ ही, केन्द्र से किसानों की माँगों को मानने की भी पुनः अपील.   

किसानों के समर्थन में मायावती बोलीं- कृषि कानूनों पर केन्द्र सरकार करें पुनर्विचार

बसपा सुप्रीमो मायावती से पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी भारत बंद का समर्थन का ऐलान कर चुके हैं. इसके अलावा सपा कांग्रेस ने भी किसान संगठनों के 'भारत बंद' के आह्वान का समर्थन किया है. दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए मायवती ने कहा था कि पूरे देश में किसान काफी आक्रोशित व आन्दोलित भी हैं. मायावती ने केंद्र सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि इन कानूनों पर केन्द्र सरकार अगर पुनर्विचार कर ले तो बेहतर है.

मायावती बोलीं- लव जिहाद पर कानून पहले से ही प्रभावी हैं, सरकार करे पुनर्विचार

बता दें कि दिल्ली-हरियाण बॉर्डर पर केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 11 दिनों से आंदोलित हैं. केंद्र सरकार और किसान के बीच पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही. 30 से ज्यादा संगठनों द्वारा 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है. देशभर के तमाम विपक्षी दल भारत बंद का समर्थन कर चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें