मायावती ने मोदी सरकार को घेरा, कहा- किसान बदहाली का जीवन कतई नहीं जिएगा

Smart News Team, Last updated: Tue, 26th Jan 2021, 11:13 PM IST
  • बहुजन समाज पार्टी(बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि कृषि कानूनों को वापस लेने की बी.एस.पी. की बात केन्द्र सरकार अगर मान लेती तो आज गणतंत्र दिवस पर जो एक नई परम्परा की शुरूआत हो गई है उसकी नौबत ही नहीं आती. यह किसानों के प्रति भी सरकार की असंवेदनशीलता नहीं तो और क्या है?
BSP चीफ मायावती

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी(बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने किसानों की ट्रैक्टर परेड को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों को वापस लेने की बी.एस.पी. की बात केन्द्र सरकार अगर मान लेती तो आज गणतंत्र दिवस पर जो एक नई परम्परा की शुरूआत हो गई है उसकी नौबत ही नहीं आती. यह किसानों के प्रति भी सरकार की असंवेदनशीलता नहीं तो और क्या है?

मायावती ने कहा कि देश में करोड़ों गरीब, मजदूर व अन्य मेहनतकश समाज के लोग असंगठित तौर पर बदहाल जीवन जीने को मजबूर हैं किन्तु देश का किसान समाज सरकारी तंत्र के माध्यम से अब और ज्यादा बदहाल जीवन जीने को कतई तैयार नहीं लगता है और इसी लिए आज गणतंत्र दिवस पर ’’ट्रैक्टर परेड’’ कर रहा है. 

किसान ट्रैक्टर परेड से पहले मायावती की मांग- केंद्र सरकार कृषि कानून वापस लें

बसपा सुप्रीमो मायावती ने 72 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि यही वह समय है जब निष्पक्षता से समीक्षा व आकलन हो कि देश की आजादी के बाद इसके लोकतंत्र व गणतंत्र का यहाँ के करोड़ों गरीबों आदि के जीवन में सुख-शान्ति, समृद्धि व आपेक्षित बेहतरी हेतु अबतक कितनी ईमानदारी व निष्ठा से काम किए गए हैं.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बोले- किसानों की ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लें, सफल बनाएं

मायावती ने कहा," यह देश बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के अपार देशप्रेम व उससे ओतप्रोत मानवतावादी संविधान देने के लिए उनका हमेशा ही ऋणी व शुक्रगुजार रहा है लेकिन उनके समतामूलक संवैधानिक आदर्शों व सिद्धान्तों पर अमल करने के जनहित के मामले में सरकारें काफी ढीली व ढुलमुल ही रहीं". उन्होंने कहा कि सरकार गणतंत्र दिवस अवश्य मनाएं लेकिन गण की भी सही चिन्ता जरूर करें,  तभी देश की गणतंत्र का आपेक्षित मान-सम्मान बढ़ेगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें