कृषि कानूनों पर बोलीं मायावती, केंद्र सरकार चालू संसद सत्र में कानून करें रद्द

Smart News Team, Last updated: Fri, 23rd Jul 2021, 12:32 PM IST
मायावती ने ट्वीट करते हुए सरकारों से किसानों के प्रति अहंकारी न होकर संवेदनशील होने की बात कही है. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से इन तीन कृषि कानूनों को चालू सत्र में रद्द करने की मांग की है.
बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने किसान आंदोलन के मुद्दे पर बीजेपी की केंद्र सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया है. ट्वीट में मायावती ने कहा कि सरकारों को किसानों के प्रति अहंकारी ना होकर बल्कि संवेदनशील और उनका हमदर्द होना चाहिए. मायावती ने ट्वीट में दु:ख जताते हुए कहा कि किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द कराने के लिए काफी लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं. मायावती ने ट्वीट में कहा कि अब किसानों ने जंतर मंतर पर किसान संसद लगाई है.

ट्वीट में मायावती ने मांग की कि केंद्र सरकार संसद के चालू सत्र में इन कृषि कानूनों को रद्द करें. इससे पहले भी  मायावती किसानों को अपना समर्थन दे चुकी है. आपको बता दें कि पिछले साल सितंबर में लोकसभा में तीन कृषि कानूनों को पास किया गया था. इसके बाद से देशभर और खासकर पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में कृषि कानूनों के  खिलाफ किसानों ने आंदोलन शुरु कर दिया था. कृषि कानूनों के खिलाफ शुरु हुए आंदोलन को लगभग एक साल पूरा होने वाला है और यह अब तक जारी है.

पीएम किसान: 9वीं किस्त भेजने की तैयारी में सरकार, जानें कहां तक पहुंचा प्रोसेस

दिल्ली के तीन बॉर्डरों सिंघू, टिकरी और गाजीपुर सहित देश भर में किसान महीनों से आंदोलन कर रहे हैं. आंदोलन के दौरान सैकड़ों किसानों की मौतें भी हो गई है जबकि कुछ किसानों ने आत्महत्या करके अपनी जान दे दी है. किसानों और सरकार की कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है लेकिन अब तक कोई हल नहीं निकल पाया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें