पंजाब में दलित CM बनाने पर मायावती का कांग्रेस पर हमला, कहा- वोट के लिए OBC और SC को लुभाया जा रहा है

Swati Gautam, Last updated: Mon, 20th Sep 2021, 1:59 PM IST
  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने पंजाब में दलित सीएम चुने जाने पर कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा है कि विधानसभा चुनाव के समय पंजाब में मुख्यमंत्री बदलना कांग्रेस का चुनावी हथकंडा है. कांग्रेस ने दिखावे के लिए पंजाब में एक दलित को सीएम बनाया है. अब भाजपा और कांग्रेस के बहकावे में ओबीसी और दलित नहीं आने वाले हैं.
पंजाब में दलित CM बनाने पर मायावती का कांग्रेस पर हमला, कहा- वोट के लिए ओबीसी और दलित को लुभाया जा रहा है (फाइल फोटो)

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने एएनआई से हुई बातचीत में कांग्रेस पर हमला करते कहा कि विधानसभा चुनाव के समय पंजाब में मुख्यमंत्री बदलना कांग्रेस का चुनावी हथकंडा है. कांग्रेस ने दिखावे के लिए पंजाब में एक दलित को सीएम बनाया है. उन्होंने कहा कि अब भाजपा और कांग्रेस के बहकावे में ओबीसी और दलित नहीं आने वाले हैं. उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस ने दलित सीएम बनाने का फैसला चुनावों में लाभ पाने के लिए लिया है.

बता दें कि कांग्रेस विधायक चरणजीत सिंह चन्नी को विधायक दल का नेता चुना गया है और पंजाब के अगले मुख्यमंत्री होंगे. जिसके बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस को चुनाव के समय ही दलित की क्यों याद आई. उनके इस फैसले के बाद से पंजाब के दलित कांग्रेस के बहकावे में आने वाले नहीं हैं. उन्होंने कांग्रेस पर लुभाने का आरोप लगाते हुए कहा कि केवल वोट की खातिर ओबीसी और दलित को लुभाया जा रहा है.

सीतापुर में आज किसान महापंचायत, लखनऊ में आंदोलन मजबूत करने की कोशिश

मायावती ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि यूपी में 2022 का चुनाव नजदीक देख भाजपा ओबीसी के प्रति प्रेम दिखा रही है अगर उनको सही में इन जातियों से प्रेम होता तो एससी एसटी और ओबीसी के बैकलॉग पद ख़ाली न रहते साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा को ओबीसी जाति जनगणना को अब तक स्वीकार कर लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि काठ की हांडी बार-बार चढ़ने वाली नहीं है केवल वोट की खातिर ओबीसी और दलित को लुभाया जा रहा है. भाजपा कांग्रेस के बहकावे में ये दोनो जातियां आने वाली नहीं है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें