जनसंख्या नियंत्रण बिल की टाइमिंग को लेकर BJP सरकार की नीति-नियत पर शक- मायावती

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Jul 2021, 3:07 PM IST
  • बसपा सुप्रीमो और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने योगी सरकार की ओर से लाए जा रहे नए जनसंख्या नियंत्रण बिल पर सवाल खड़े किए है. उन्होंने कहा है कि इसमें गंभीरता कम और चुनावी स्वार्थ ज्यादा लग रहा है.
जनसंख्या नियंत्रण बिल पर मायावती बोलीं- इसमें गंभीरता कम चुनावी स्वार्थ ज्यादा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की ओर से जनसंख्या नियंत्रण के लिए लाए जा रहे नए बिल को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने सवाल खड़े किए है. उन्होंने कहा है कि इस बिल की टाइमिंग भाजपा सरकार की नीति और नियत दोनों पर शक और सवाल खड़े कर रही है. उन्होंने इस मुद्दे पर एक के बाद एक लगातार तीन ट्वीट करते हुए भाजपा को अपने सवालों के घेरे में लिया है.

मायावती ने इस बिल को चुनावी स्वार्थ बताते हुए कहा है कि यूपी भाजपा सरकार द्वारा जनसंख्या नियंत्रण हेतु लाया जा रहा नया बिल, इसके गुण-दोष से अधिक इस राष्ट्रीय चिन्ता के प्रति गंभीरता व इसकी टाइमिंग को लेकर सरकार की नीति व नीयत दोनों पर शक व सवाल खड़े कर रहा है, क्योंकि लोगों को इसमें गंभीरता कम व चुनावी स्वार्थ ज्यादा लग रहा है.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि अगर जनसंख्या नियंत्रण को लेकर यूपी भाजपा सरकार थोड़ी भी गंभीर होती तो यह काम सरकार को तब ही शुरू कर देना चाहिये था जब इनकी सरकार बनी थी और फिर इस बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करती तो अब यहाँ विधानसभा चुनाव के समय तक इसके नतीजे भी मिल सकते थे.

UP Board 10th 12th result 2021: इसी हफ्ते यूपी बोर्ड के नतीजे हो सकते हैं घोषित

मायावती ने आगे कहा कि यूपी व देश की जनसंख्या को जागरूक, शिक्षित व रोजगार-युक्त बनाकर उसे देश की शक्ति व सम्मान में बदलने में विफलता के कारण भाजपा अब कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार की तरह ही जोर-जबरदस्ती व अधिकतर परिवारों को दण्डित करके जनसंख्या पर नियंत्रण करना चाहती है जो जनता की नजर में घोर अनुचित.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें