26 हजार पदों पर भर्ती की मांग को लेकर BTC प्रशिक्षुओं का लोकभवन के सामने प्रदर्शन

Sumit Rajak, Last updated: Sun, 9th Jan 2022, 8:44 AM IST
  • शिक्षक भर्ती 68500 में खाली बचे 26 हजार पदों पर भर्ती की मांग को लेकर बीटीसी प्रशिक्षुओं ने शनिवार को लोकभवन के सामने प्रदर्शन किया. यह अभ्यर्थी बची हुई सीटों को 30और 33 प्रतिशत पास नम्बर वाले इसी भर्ती के बीटीसी के अभ्यर्थियों से भरे जाने की मांग कर रहे थे.
फाइल फोटो

लखनऊ. 69 हजार शिक्षक भर्ती मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. अभ्यार्थियों का रह-रह कर सब्र का बांध टूटता जा रहा है. शिक्षक भर्ती 68500 में खाली बचे 26 हजार पदों पर भर्ती की मांग को लेकर बीटीसी प्रशिक्षुओं ने शनिवार को लोकभवन के सामने प्रदर्शन किया. यह अभ्यर्थी बची हुई सीटों को 30और  33 प्रतिशत पास नम्बर वाले इसी भर्ती के बीटीसी के अभ्यर्थियों से भरे जाने की मांग कर रहे थे. पुलिस ने इन अभ्यर्थियों को  बलपुर्वक बसों में भरकर ईको गार्डेन भेज दिया.

आंदोलन का नेतृत्व कर रहे आदित्य पांडे ने कहा कि 68500 शिक्षक भर्ती में अभी करीब 26 हजार सीटें बची हैं. बेसिक शिक्षा विभाग ने 21 मई 2018 को शासनादेश जारी किया था. इसके मुताबिक सामान्य और ओबीसी अभ्यर्थियों के लिए 33 प्रतिशत और एससी व एसटी के लिए 30 प्रतिशत पासिंग नम्बर  पर सफल माना गया था. तूफान सिंह ने 68500 शिक्षक भर्ती की बची हुई 26 हजार सीटों को 30 व 33 प्रतिशत पासिंग नम्बर वाले इसी भर्ती वाले अभ्यर्थियों से भरे जाने की मांग मुख्यमंत्री से की है.

IPL 2022: लखनऊ टीम का प्रोमो होगा सबसे हटके, नजर आएगी अवधी संस्कृति और तहजीब

आदित्य पांडे संघर्षी ने कहा कि इसी भर्ती के अभ्यर्थी खाली पदों पर भर्ती की मांग कर रहे हैं. वह बताया कि इन खाली पदों पर सरकार बीटीसी अभ्यर्थियों का चयन ही सुनिश्चित करे. इस दौरान विभा द्विवेदी, मधु सिंह, सर्वेश वीरेन्द्र, आलोक सिंह, ऋषभ, विकास, आशुतोष शुक्ला, आशीष पांडे, छोटे लाल आदि मौजूद रहे.

आरक्षण की मांग को लेकर सीएम आवास पहुंचे अभ्यर्थी

69 हजार शिक्षक भर्ती में ओबीसी और एससी के आरक्षण को पूरा किए जाने की मांग को लेकर अभ्यार्थियों ने शनिवार मुख्यमंत्री आवास के पास एकत्र होकर मुख्यमंत्री से मिलाए जाने की मांग की. अभ्यर्थी मुक्ता कुशवाहा बताती हैं कि वह सभी समाजवादी कार्यालय पर भी गए, लेकिन वहां भी बारिश के कारण पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नहीं मिल सकी. उन्होंने कहा कि आरक्षण के तहत ओबीसी को करीब 15 हजार और एससी को तीन हजार पद मिलनी चाहिए. 6800 पदों से या पूरा नहीं हो रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें