यूपी पशुधन घोटाले में हिन्दुस्तान ने ऐसे चलाई मुहिम तब सस्पेंड हुए दो DIG

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 01:45 PM IST
  • यूपी पशुधन घोटाले में हिन्दुस्तान ने एक मुहिम चलाई. इसी का संज्ञान लेकर प्रशासन ने जांच और कार्रवाई की जिसके चलते सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने डीआईजी दिनेश दूबे और अरविंद सेन को सस्पेंड कर दिया.
यूपी पशुधन घोटाले में हिन्दुस्तान ने ऐसे चलाई मुहिम तब सस्पेंड हुए दो DIG

लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने डीआईजी दिनेश दूबे और अरविंद सेन को पशुधन घोटाले में सस्पेंड कर दिया. दरअसल यूपी पशुधन घोटाले में हिन्दुस्तान ने एक मुहिम चलाई थी.  इसी का संज्ञान लेकर प्रशासन ने जांच के बाद कार्रवाई की. उत्तर प्रदेश के पशुधन विभाग में करोड़ों का घोटालेा हुआ था. हिन्दुस्तान की मुहिम के बाद नाम सामने आने के बाद डीआईजी रूल्स और मैनुअल दिनेश दुबे और डीआईजी पीएसी अरविंद सेन पर कार्रवाई हुई. इस मामले में इससे पहले आरोपियों का मददगार हेड कांस्टेबल दिलबहार सिंह सस्पेंड हुआ था. एसीपी गोमतीनगर की जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी बाराबंकी अरविंद चतुर्वेदी ने हेड कांस्टेबल दिलबहार सिंह यादव को सस्पेंड किया था.

पशुपालन विभाग के इस फर्जीवाड़े में पशुधन राज्यमंत्री जयप्रताप निषाद के निजी प्रधान सचिव रजनीश दीक्षित, निजी सचिव धीरज कुमार देव, इलेक्ट्रॉनिक चैनल के पत्रकार आशीष राय, अनिल राय, कथित पत्रकार एके राजीव, रूपक राय और उमाशंकर को 14 जून को गिरफ्तार किया गया था. इन लोगों के खिलाफ इंदौर के व्यापारी मंजीत भाटिया ने शासन में शिकायत की थी. एसटीएफ के मुताबिक पीड़ित मंजीत ने सीबीसीआईडी के तत्कालीन एसपी (अब डीआईजी) पर इन लोगों से मिलीभगत कर धमकाने का आरोप लगाया था. एसटीएफ की पड़ताल में साफ हुआ कि तब सीबीसीआईडी में एसपी अरविन्द सेन थे. अरविन्द सेन इस समय डीआईजी हैं और पीएसी सेक्टर आगरा में तैनात हैं. जांच में इन पर धमकाने का आरोप सही पाया गया.

Hindustan Impact: यूपी पशुधन घोटाले में DIG दिनेश दूबे और अरविंद सेन सस्पेंड

सचिवालय में चलता था फर्जी दफ्तर
दफ्तर फर्जी, अफ्सर फर्जी और वर्क ऑर्डर भी झूठा था.
समीक्षा अधिकारी से पूछताछ हुई. तीन कर्मी गायब रहे.
एक सिपाही सब पर भारी पड़ा.
राजस्थान और गुजरात के व्यापारियों को भी ठगा.
सीबीसीआईडी के एसपी साठगांठ में शामिल, पीड़ित को पुलिस से पिटवाया.
मंत्री के निजी सचिव सहित सात लोग ठगी में गिरफ्तार
सिपाही निलंबित, दो आईपीएस और चार कर्मी जांच के दायरे में आए.
नौ करोड़ की डीलिंग वाले कमरे की पड़ताल
दो आईपीएस पर कार्वाई के लिए शासन को पत्र
सीबीसीआईडी के दफ्तर में नहीं मिला रजिस्टर
करोड़ो का ठेका दिलाने के लिए आईपीएस से डील की थी
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें