सीएम योगी की पहल पर निवेशकों से संपर्क करने की मुहिम तेज

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 02:46 PM IST
  • एनओसी व अन्य सेवाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले उद्यमियों से सीधे संपर्क कर उन्हें फीडबैक दिया जा रहा है. हालही में फायर सर्विस मुख्यालय ने 17 जिलों के मुख्य अग्निश्मन अधिकारियों (सीएफओ) को लंबित मामलों का ब्योरा भेजा है.
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ की पहल पर निवेशकों की समस्याओं का समाधान कराने की मुहिम तेज हो गई है. एनओसी व अन्य सेवाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन करने वाले उद्यमियों से सीधे संपर्क कर उन्हें फीडबैक दिया जा रहा है.

हालही में फायर सर्विस मख्यालय ने 17 जिलों के मुख्य अग्निश्मन अधिकारियों (सीएफओ) को लंबित मामलों का ब्योरा भेजा है. उनसे कहा गया है कि वह संबंधित निवेशकों से फोन पर बात कर पूछें कि उनके संतुष्ट नहीं होने का कारण क्या है? ताकि उनका त्वरित समाधान कराया जा सके. इसके लिए पोर्टल में बदलाव किया जा सकता है.

दरअसल फायर एनओसी तय समय में मिलने के मामले में 17 जिलों के 58 निवेशकों ने इस मामले मे संतुष्ट नहीं का फीडबैक दिया है. अब संबंधित अधिकारी निवेशकों को मोबाइल फोन पर संपर्क करने में जुटे हैं. उद्योग लगाने से पहले आग से संबंधी जरूरी बचाव के इंतजाम किए जाते हैं. किसी आग संबंधी दुर्घटना को रोकने के लिए इसका होना बहुत आवश्यक है. इसकी एनओसी मिलने के बाद आगे के काम होते हैं. 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' के तहत निवेशकों के फीडबैक के आधार पर विभिन्न सेवाओं की गुणवत्ता परखी जाती है. इन जिलों के मुख्य अग्निश्मन अधिकारी पोर्टल पर आए आवेदनों को तय समय में नहीं निपटा पा रहे हैं.

अब यूपी से निर्यात होगी मोबाइल फोन की स्क्रीन

इन जिलों में फायर एनओसी के मामले लंबित:-

अंबेडकर नगर, अमेठी, बुलंदशहर, फतेहपुर, गौतमबुद्धनगर, हमीरपुर, हापुड़, लखनऊ, मैनपुरी, मथुरा, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, देवरिया, पीलीभीत, वाराणसी, बरेली व शहजहांपुर.

सीएम योगी का निर्देश, प्रदेश के सभी धान क्रय केंद्रों की होगी गहन समीक्षा

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें