पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी और उनके बेटे पर पाक्सो के तहत केस, जानें आरोप

Smart News Team, Last updated: Wed, 7th Jul 2021, 8:59 AM IST
  • उत्तर प्रदेश के राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी के परिवार की महिलाओं के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने के आरोप में पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी और उनके नव निर्वाचित जिलापंचायत अध्यक्ष बेटे आनंद चौधरी के खिलाफ पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.
पाक्सो एक्ट लगने के बाद अंबिका चौधरी और उनके बेटे की मुश्किलें बढ़ गई हैं

उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी और उनके बेटे की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है. दरअसल प्रदेश के राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी व उनके परिवार की महिलाओं के खिलाफ गाली गलौज करने के आरोपी पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी और उनके बेटे आनंद चौधरी समेत अन्य आरोपियों पर पाक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी के बेटे आनंद चौधरी हाल ही में जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं. कोतवाली पुलिस ने बताया है कि जांच के आधार पर पाक्सो एक्ट बढ़ाया गया है.

बता दें कि राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी के भतीजे अश्विनी तिवारी ने पुलिस में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में सपा उम्मीदवार आनंद चौधरी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस को की गई शिकायत अश्विनी तिवारी चुनाव में आनंद चौधरी की जीत के बाद निकाले गए विजय जुलूस के दौरान उनके परिवार की महिलाओं के खिलाफ गाली गलौज करने का आरोप लगाया था.

नशे के लिए इस्तेमाल होता था खांसी का सिरप, चार मेडिकल फर्मों के लाइसेंस हुए रद्द

राज्यमंत्री के भतीजे अश्विनी तिवारी की तहरीर पर पुलिस ने पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी, उनके बेटे नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष आनंद चौधरी, राजेंद्र यादव, शिवपाल यादव, रमेश यादव उर्फ शराबी, प्रेमप्रकाश यादव, पूर्व जिलापंचायत सदस्य अमित यादव, विकास ओझा, राजमंगल यादव, दिनेश यादव समेत सैकड़ों अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. पुलिस ने धारा 147, 148, 149, 342, 500, 504 और 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है. मंगलवार को पुलिस ने इसमें पाक्सो एक्ट भी बढ़ा दिया.

यूपी मुख्य सचिव का आदेश, 15 अगस्त तक पूरा हो पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम

बता दें कि राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी और उनके परिवार की महिलाओं के खिलाफ गाली गलौज करने के मामले में पुलिस की छापेमारी लगातार जारी है. सोमवार रात कई जगहों पर दबिश देकर हिरासत में लिए गए कुछ लोगों से पुलिस पूछताछ कर रही है. मंगलवार को तीन आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर भी कर दिया. वहां से उनको जमानत भी मिल गई. हालांकि पाक्सो एक्ट के जुड़ने के बाद इन पर गिरफ्तारी का खतरा फिर मंडराने लगा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें