ऑनलाइन चाइल्ड पोर्नोग्राफी केस में CBI का 14 राज्यों में छापा, UP के 11 शहर भी शामिल

Swati Gautam, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 2:54 PM IST
  • संदिग्ध केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बढ़ते ऑनलाइन बाल यौन शोषण के मामलों के चलते 14 राज्यों में छापेमारी की है, जिसमें से उत्तर प्रदेश के 11 शहर भी उनके निशाने पर रहे. सीबीआई ने मामले में अब तक 10 लोगों को हिरासत में ले लिया है. अभी तक जांच में यह बात सामने आई है कि बच्चे के अश्लील वीडियो को पाकिस्तान, बांग्लादेश, अमेरिका, कनाडा व अन्य देशों में बेचा गया है.
ऑनलाइन चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में CBI का 14 राज्यों में छापा, UP के 11 शहर भी शामिल. file photo

लखनऊ. देश ने बढ़ते ऑनलाइन बाल यौन शोषण के चलाते इस बार संदिग्ध केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कमर कस ली है और जग जगह से आरोपियों का जाल ढूंढ निकालने का ठान लिया है. इसी संबंध में सीबीआई ने स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर 14 राज्यों में छापेमारी की है, जिसमें से उत्तर प्रदेश के 11 शहर भी उनके निशाने पर रहे. सीबीआई ने मामले में अब तक 10 लोगों को हिरासत में ले लिया है जिनके फोन, लैपटॉप व अन्य उपकरणों के जरिए बाल यौन शौषण के कनेक्शन का पता लगाया जा रहा है. अभी तक जांच में यह बात सामने आई है कि बच्चे के अश्लील वीडियो को पाकिस्तान, बांग्लादेश, अमेरिका, कनाडा व अन्य देशों में बेचा गया है.

सीबीआई ने यूपी के जिन 11 शहरों में छापेमारी की है उनमें जालौन, मऊ, चंदौली, वाराणसी, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, मुरादाबाद, नोएडा, झांसी, गाजियाबाद व मुजफ्फरनगर शहर शामिल हैं. वहीं झांसी से तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है. सीबीआई ने अन्य ठिकानों से इस गंभीर मामले में जालौन के निवासी राहुल, वाराणसी के शुभम प्रताप गौतम, सिद्धार्थनगर के शहाबुद्दीन, मऊ के हिमांशु कुमार, झांसी से सूरज व गाजीपुर के तौहीद आलम को भी नामजद आरोपित बनाया है और उनके ठिकानों पर भी छानबीन की गई. सीबीआई ने आरोपियों का मोबाइल और चार्जर भी जब्त कर लिए हैं.

बरेली में शादी से इनकार करने पर युवती को मारी गोली, आरोपी ने किया सरेंडर

हाल ही में बीते 14 नवंबर बाल दिवस के दिन सीबीआई ने बाल यौन शोषण सामग्री (सीएसईएम) को ऑनलाइन प्रसारित करने वालों के खिलाफ अभियान शुरू किया था और 83 लोगों के खिलाफ 23 अलग-अलग मामले दर्ज किए थे. इसके बाद से ही सीबीआई ने अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी करने का फैसला लिया. सीबीआई ने स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर अब तक 14 राज्यों में 77 ठिकानों की सघन तलाशी ली है. बया दें कि नवंबर 2020 में सीबीआई ने बांदा से 50 से ज्यादा बच्चों का यौन शोषण करने वाले जूनियर इंजीनियर रामभवन को गिरफ्तार किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें