खुशखबरी: अब झट से लग जाएगा पता, CDRI वैज्ञानिकों ने बनाई ओमीक्रोन जांच किट

Ruchi Sharma, Last updated: Mon, 24th Jan 2022, 9:46 AM IST
  • सीडीआरआई के वैज्ञानिकों ने कोरोना के नए स्वरूप ओमीक्रोन की पहचान के लिए स्वदेशी आरटीपीसीआर किट इंडिकोव-ओम-टीएम तैयार की है. इसकी मदद से आपको घर बैठे ओमीक्रोन का पता चल जाएगा. केजीएमयू द्वारा उपलब्ध कराए गए संक्रमितों के नमूनों का इस किट से सफल परीक्षण और सत्यापन किया जा चुका है.
प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ. कोरोना वायरस ने अपनी रफ्तार पकड़ ली है. ऐसे में नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की खतरा भी धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है. इसे कंट्रोल में लाने के लिए ओमिक्रॉन की टेस्टिंग शुरू हो गई थी. अब आप घर बैठे ओमीक्रोन की जांच झट से कर सकेंगे. सीडीआरआई के वैज्ञानिकों ने कोरोना के नए स्वरूप ओमीक्रोन की पहचान के लिए स्वदेशी आरटीपीसीआर किट इंडिकोव-ओम-टीएम तैयार की है. इसकी मदद से आपको घर बैठे ओमीक्रोन का पता चल जाएगा. केजीएमयू द्वारा उपलब्ध कराए गए संक्रमितों के नमूनों का इस किट से सफल परीक्षण और सत्यापन किया जा चुका है. सीडीआरआई ने किट को मंजूरी के लिए आईसीएमआर भेजी है. वहां से अप्रूवल मिलते ही यह किट बाजार में आम लोगों को उपलब्ध करा दी जाएगी. खास बात यह है कि ये कम लागत में आपको मिल सकेगी.

सीडीआरआई के निदेशक प्रो. तपस कुंडू का कहना है कि अभी ओमीक्रोन वैरिएंट की पहचान के लिए नमूने दिल्ली भेजे जा रहे हैं. मगर संस्थान के वैज्ञानिकों ने बायोटेक डेस्क प्रा.लि. हैदराबाद के साथ मिलकर ओमीक्रोन की पहचान के लिए आरटीपीसीआर इंडिकोव-ओम-टीएम किट तैयार कर ली है. इस तकनीक का उपयोग कोरोना संक्रमण, सांस संबंधी दिक्कतों के साथ दूसरे संक्रमणों का पता लगाने में भी होगा.

 

Jharkhand Corona Virus: 24 घंटे में मिले 1269 नए केस, 8 की मौत

 

कम कीमतों पर होगी जांच

सीडीआरआई के डॉ. अतुल गोयल के मुताबिक कोरोना की पहचान एस-जीन ड्रॉप आउट, एनजीएस (नेक्स्टजेन सीक्वेंसिंग) से संभव है.इसमें एस-जीन ड्रॉप आउट विधि वायरस के हर स्वरूप की सटीक पहचान में सक्षम नहीं है. एनजीएस से जांच सम्भव है, मगर इसमें समय ज्यादा लगने के साथ ये महंगी है. ऐसे में सीडीआरआई की नई किट से कम कीमत पर जल्दी और सटीक जांच मुहैया कराएगी. डॉ. गोयल के अनुसार स्वदेशी फ्लोरोसेंट डाई और क्वेंचर तकनीक से भविष्य में आने वाले संक्रमणों की जांच में मदद मिलेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें