UP की जेल में बंद मुख्तारी अंसारी पर शिकंजा, 10 अप्रैल को तय होंगे आरोप

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Apr 2021, 10:55 PM IST
  • एमपीएमएलए कोर्ट के विशेष जज ने मुख्तारी अंसारी समेत अन्य आरोपियों पर जेल में पथराव और हमला करने के आरोप 19 अप्रैल को तय किए जाएंगे. माफिया डाॅन मुख्तार अंसारी यूपी की बांदा जेल में बंद है.
माफिया डाॅन मुख्तार अंसारी यूपी की बांदा जेल में बंद है. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी पर शिकंजा कसने की तैयारी चल रही है. जेल में पथराव, कारापाल पर हमला और धमकी देने के आरोप में मुख्तारी अंसारी और अन्य आरोपियों पर आरोप तय करने के लिए एमपीएमएलए कोर्ट में 19 अप्रैल तय की गई है. कोर्ट के विशेष जज पवन कुमार ने इस तारीख को तय किया गया है.

इस मामले में मुख्तार अंसारी के अलावा युसफ चिश्ती, आलम, कल्लू पंडित और लालजी यादव आरेापी हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, युसफ चिश्ती और आलम न्यायिक हिरासत में जेल में हैं. वहीं कल्लू पंडित और लालजी यादव जमानत पर जेल से बाहर हैं. मुख्तार समेत अन्य आरोपियों के मौजूद न होने की वजह से आरोप तय नहीं हो सका है.

प्रो. सीमा सिंह बनीं UPRTOU की नई कुलपति, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने की नियुक्ति

इस मामले में आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा, 147, 336, 353 और 508 में आरोप पत्र दाखिल किया गया था. मिली जानकारी के अनुसार, 3 अप्रैन 2000 को इस मामले की एफआईआर लखनउ के कारापाल एसएन द्विवेदी ने थाना आलमबाग में दर्ज कराई थी. सोमवार को बांदा से जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मोहाली कोर्ट में पेशी हुई.

कोरोना पर सपा के अखिलेश ने योगी सरकार को घेरा, कहा- सरकार लापरवाह है

इस बारे में प्रभारी जेलर प्रमोद कुमार त्रिपाठी ने कहा कि पंजाब में दर्ज रंगदारी के मामले में 10 मिनट तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेशी हुई. वहीं फर्जी पते से किए गए असलहे में की गई पैरवी के मामले में आरोपी मुख्यतार अंसारी की गुरुवार को मउ कोर्ट में भी वीडिया कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बांदा जेल में पेशी हो चुकी है. जिसकी अगली सुनवाई 22 अप्रैल है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें