लखीमपुर खीरी हिंसा: छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल और पंजाब उपमुख्यमंत्री को लखनऊ में लैंड करने की इजाजत नहीं

Somya Sri, Last updated: Mon, 4th Oct 2021, 10:34 AM IST
  • उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर एस. रंधावा को लखनऊ एयरपोर्ट पर उतरने की इजाजत नहीं देने को कहा है. यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों की मौत के मामले में भूपेश बघेल और सुखजिंदर एस रंधावा ने लखीमपुर खीरी जाने की घोषणा की थी.
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर एस. रंधावा को लखनऊ एयरपोर्ट पर उतरने की इजाजत नहीं देने को कहा है. यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानों की मौत के मामले में भूपेश बघेल और सुखजिंदर एस रंधावा ने लखीमपुर खीरी जाने की घोषणा की थी. जिसके बाद अवनीश अवस्थी ने उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर लैंड करने की इजाजत नहीं देने को कहा है.

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने लखनऊ में चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे अथॉरिटी को पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने भूपेश बघेल और पंजाब के उपमुख्यमंत्री को प्रवेश न देने का आदेश दिया है. अवनीश अवस्थी ने पत्र में लिखा है कि लखीमपुर खीरी में घठित घटना के बाद वहां की कानून-व्यवस्था चरमार सकती है. डीएम ने वहां पर धारा 144 लागू की है. इस स्थिति को देखते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को एयरपोर्ट पर न उतरने दिया जाए.

लखीमपुर मामले में पीड़ितों से मिलने जा रहे अखिलेश यादव हाउस अरेस्ट, घर के बाहर 16 पहिये का ट्रक लगाकर रास्ता किया जाम

गौरतलब है कि रविवार यानी कल यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों और बीजेपी नेताओं के बीच झड़प की खबर सामने आई थी. यह बवाल केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम से पहले हुआ था. दरअसल केशव प्रसाद मौर्या को काले झंडे दिखाने के लिए किसान खड़े थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसी दौरान भाजपा नेताओं के काफिले की गाड़ियों ने उन्हें कुचल दिया. इसके बाद मौके पर काफी बवाल हो गया और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या बीच रास्ते से लौट गए थे. इस हादसे में कुछ किसानों की मौके पर ही मौत हो गयी थी. हालांकि प्रशासन की तरफ से कोई भी पुष्टि नहीं हुई है. इसके बाद गुस्साएं किसानों ने मौके पर मौजूद कई गाड़ियों में आग लगा दी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें