10वीं के छात्र ने बनाया अनोखा चश्मा, दृष्टिहीन पहचान सकेंगे चेहरा, पढ़ सकेंगे किताबें

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 11:25 AM IST
  • रायबरेली निवासी दसवीं के छात्र नैतिक श्रीवास्तव ने हाईटेक चश्मा बनाया है. नैतिक का दावा है कि चश्मे से दृष्टिहीन भी देख सकेंगे. उन्होंने अपने इस अविष्कार का प्रोजेक्ट और वीडियो इंस्पायर अवार्ड की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है. हालांकि अब तक इस प्रोजेक्ट पर कोई फैसला नहीं लिया गया है.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. दसवीं के एक छात्र ने अनोखा चश्मा बनाने का दावा किया है. छात्र का दावा है कि इस चश्मे से दृष्टिहीन भी देख सकेंगे. इस प्रतिभाशाली छात्र का नाम नैतिक श्रीवास्तव है. नैतिक रायबरेली के महराजगंज का रहने वाला है. नैतिक ने अपने इस अविष्कार का प्रोजेक्ट और वीडियो इंस्पायर अवार्ड की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है. हालांकि अभी इस प्रोजेक्ट पर कोई फैसला नहीं लिया गया है.

नैतिक का दावा है कि इस चश्मे के जरिए दृष्टिहीन चेहरा पहचान सकेंगे, अखबार और किताबें पढ़ सकेंगे. दरअसल, नैतिक ने यह हाईटेक चश्मा बनाया है. नैतिक कहते हैं कि गांव में दृष्टिहीन रामसेवक की पीड़ा देखने के बाद उसके मन में इस तरह का चश्मा बनाने का ख्याल आया. बहरहाल, काफी मशक्कत के बाद इस चश्मे का प्रोजेक्ट तैयार कर लिया जाएगा. अब नैतिक को उम्मीद है कि वैज्ञानिक परीक्षण में उसके प्रोजेक्ट को मंजूरी मिलेगी और दृष्टिहीनों को नई जिंदगी जीने का सहारा मिल सकेगा.

अखिलेश का आरोप- हमारे फोन टैप करवा रही योगी सरकार, खुद CM सुनते हैं रिकॉर्डिंग

नैतिक न्यू स्टैंडर्ड पब्लिक स्कूल सलेथू के छात्र हैं. नैतिक के इस प्रोजेक्ट में स्कूल के प्रिंसिपल राजीव सिंह, शिक्षक प्रियदर्शनी, सुलेमान, देवांश आदि ने सहयोग किया. स्कूल के प्रिंसिपल राजीव सिंह ने बताया कि नैतिक नर्सरी क्लास से इसी स्कूल में पढ़ रहा है. नैतिक का कहना है कि वह देश के लिए कुछ नया करना चाहता है. वह आने वाले समय में वैज्ञानिक या इंजीनियर बनना चाहता है. वहीं प्रधानाचार्य राजीव सिंह ने छात्र नैतिक की इस नई खोज की तारीफ की. साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि नैतिक से स्कूल के दूसरे छात्र भी प्रेरणा लेंगे. बताते चलें कि दसवीं के छात्र नैतिक श्रीवास्तव ने एक अनोखा चश्मा बनाने का दावा किया है. छात्र का दावा है कि इस चश्मे से दृष्टिहीन भी देख सकेंगे. साथ ही इस चश्मे के जरिए दृष्टिहीन चेहरा पहचान सकेंगे, अखबार और किताबें पढ़ सकेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें