अलर्ट, यूपी की योगी सरकार बदलने जा रही है पेंशन के तरीके, फुल डिटेल

Atul Gupta, Last updated: Fri, 19th Nov 2021, 6:12 PM IST
  • यूपी सरकार पेंशन के तरीकों में बदलाव करने जा रही है. रिटायरमेंट से 6 महीने पहले ही आपसे सारी जरूरी जानकारियां मांग ली जाएगी. इसके बाद आपके पेंशन की फाइल तैयार की जाएगी. ये नया तरीका अप्रैल 2022 से लागू होगा.
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (फोटो- सोशल मीडिया)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार पेंशन के नियमों में बदलाव करने जा रही है. अब पेंशन प्रक्रिया पूरी तरह डिजिटल होगी. इस व्यवस्था में 6 महीने बाद रिटायर होने वाले व्यक्ति से उसकी सारी जानकारियां ले ली जाएंगी और फिर संबंधित अधिकारी की ये जिम्मेदारी होगी कि वो तय समय सीमा में रिटायर होने वाले व्यक्ति के पेंशन संबंधी जो भी कागजात हैं वो पूरा करे ताकि रिटायरमेंट के बाद कर्मचारी को पेंशन के लिए कहीं भागदौड़ ना करना पड़े.

योगी सरकार की इस नई व्यवस्था से राज्य के करीब 14.82 लाख पेंशनधारी लोगों को लाभ मिलेगा. यह व्यवस्था अप्रैल 2022 से लागू की जाएगी. जानकारी के मुताबिक हाल में रिटायर हुए या होने वाले लोगों को सबसे पहले इस सुविधा का लाभ मिलेगा लेकिन बाद में धीरे-धीरे सभी पेंशन धारी लोगों को ऑनलाइन माध्यम से इसी प्रक्रिया के जरिए जोड़ा जाएगा और पेंशन की व्यवस्था को पारदर्शी बनाया जाएगा.

वित्त सचिव संजय कुमार के मुताबिक पेंशनधारियों को ऑनलाइन जोड़ा जाएगा और उन्हें अब पेंशन से संबंधी सारी जानकारियां मोबाइल पर ही मिल जाया करेगी. यही नहीं, अगर पेंशन में कोई समस्या है तो भी मोबाइल पर लिंक आएगा जिसे खोलने पर पता लग जाएगा कि आखिर समस्या क्या है. इसके अलावा पेंशनधारकों को 15 दिन पर एक अलर्ट मैसेज भी आएगा. बताया जा रहा है कि सेवानिवृत्ति के दो माह के अंदर ही पेंशनर्स का पेंशन प्रमाण पत्र (पीपीओ) जेनरेट हो जाएगा जिसमें पहले काफी समय लग जाता था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें