CM योगी ने अधिकारियों व कर्मचारियों की छुट्टी 12 जुलाई तक की कैंसिल, जानें वजह

Smart News Team, Last updated: Wed, 7th Jul 2021, 12:01 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख क्षेत्र पंचायत के चुनाव को ध्यान में रखते हुए 12 जुलाई तक सभी प्रकार की छुट्टियों पर रोक लगा दी है.
योगी आदित्यनाथ (फाइल फ़ोटो)

लखनऊ: योगी सरकार द्वारा 12 जुलाई तक सभी राजकीय अधिकारियों व कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है. इसकी जानकारी मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी द्वारा जारी एक आदेश के बाद हुई उन्होंने ये कदम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के अनुपालन में उठाया है. जानकारी के लिए बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख क्षेत्र पंचायत के चुनाव को ध्यान में रखते हुए 12 जुलाई तक सभी प्रकार की छुट्टियों पर रोक लगा दी है.

12 जुलाई तक सभी छुट्टियों को रद्द करने और पूर्व में स्वीकृत छुट्टियों को भी रद्द करने का आदेश जारी किया है. मुख्य सचिव की ओर से इस संबंध में अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सभी विभागाध्यक्षों को निर्देश भेज दिया गया है. इसमें कहा गया है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रमुख क्षेत्र पंचायत चुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया है. निर्वाचन कार्य में राजकीय अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाए जाने को ध्यान में रखते हुए 12 जुलाई तक किसी भी प्रकार का अवकाश स्वीकृत नहीं किया जाएगा. बहुत जरूरी होने पर ही छुट्टी स्वीकृत की जाएगी.

लखनऊ समेत यूपी के 17 शहरों में जल्द मिलेगी मल्टीलेवल पार्किंग की सुविधा

उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयुक्त द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि राज्य में होने जा रहे ब्लाक प्रमुखों के 825 पदों के लिए वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को प्रेक्षक बनाया गया है. प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने तैनात किये गये इन प्रेक्षकों को निर्देश दिये हैं कि सभी प्रेक्षक अपने तैनाती वाले जिलों के मुख्यालय में आगामी नौ जुलाई के पूर्वान्ह तक अवश्य पहुंच कर लिखित सूचना आयोग को उपलब्ध कराएं.

चार साल से 21 हजार शिक्षकों को UP में नहीं मिली पूरी सैलरी

उन्होंने तैनात किए गए प्रेक्षकों को यह भी निर्देश दिए हैं कि अपने तैनाती जिला मुख्यालय पहुंच कर मतदान एवं मतगणना की समुचित तैयारियों के बारे में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर निष्पक्ष, पारदर्शी, स्वतंत्र एवं शान्तिपूर्ण निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए जरूरत के अनुसार व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं.

लखनऊ: योगी सरकार द्वारा 12 जुलाई तक सभी राजकीय अधिकारियों व कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी गई है. इसकी जानकारी मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी द्वारा जारी एक आदेश के बाद हुई उन्होंने ये कदम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के अनुपालन में उठाया है. जानकारी के लिए बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख क्षेत्र पंचायत के चुनाव को ध्यान में रखते हुए 12 जुलाई तक सभी प्रकार की छुट्टियों पर रोक लगा दी है.

12 जुलाई तक सभी छुट्टियों को रद्द करने और पूर्व में स्वीकृत छुट्टियों को भी रद्द करने का आदेश जारी किया है. मुख्य सचिव की ओर से इस संबंध में अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सभी विभागाध्यक्षों को निर्देश भेज दिया गया है. इसमें कहा गया है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रमुख क्षेत्र पंचायत चुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया है. निर्वाचन कार्य में राजकीय अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाए जाने को ध्यान में रखते हुए 12 जुलाई तक किसी भी प्रकार का अवकाश स्वीकृत नहीं किया जाएगा. बहुत जरूरी होने पर ही छुट्टी स्वीकृत की जाएगी.

उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयुक्त द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि राज्य में होने जा रहे ब्लाक प्रमुखों के 825 पदों के लिए वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को प्रेक्षक बनाया गया है. प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने तैनात किये गये इन प्रेक्षकों को निर्देश दिये हैं कि सभी प्रेक्षक अपने तैनाती वाले जिलों के मुख्यालय में आगामी नौ जुलाई के पूर्वान्ह तक अवश्य पहुंच कर लिखित सूचना आयोग को उपलब्ध कराएं.

उन्होंने तैनात किए गए प्रेक्षकों को यह भी निर्देश दिए हैं कि अपने तैनाती जिला मुख्यालय पहुंच कर मतदान एवं मतगणना की समुचित तैयारियों के बारे में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर निष्पक्ष, पारदर्शी, स्वतंत्र एवं शान्तिपूर्ण निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए जरूरत के अनुसार व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं.

|#+|

उन्होंने कहा कि तैनात प्रेक्षक संबंधित जिलों में की गई तैयारियों का निरीक्षण अवश्य कर लें. उन्होंने कहा यदि कोई गम्भीर समस्या एवं अनियमितता परिलक्षित होती है तो आयोग के संज्ञान में तत्काल लायी जाए. राज्य निर्वाचन आयुक्त ने प्रेक्षकों को यह भी निर्देश दिए हैं कि मतदान एवं मतगणना समाप्त होने के बाद समस्त निर्वाचन सामग्री डबल लाक में ररखवाकर सूचना आयोग को देने के बाद ही 10 जुलाई को तैनाती वाले जिले के मुख्यालय को यह प्रेक्षक छोड़ेगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें